Thursday , 29 July 2021

घरेलू हिंसा को लेकर शिवराज सरकार उठायेगी कडे कदम

भोपाल (Bhopal) . प्रदेश मे बीते दिनो घरेलू हिंसा को लेकर महिलाओ के हाथ पैर काटने की जघन्य वारदातो को देखते हुए सीएम शिवराज सिंह चौहान ने घरेलू हिंसा पर कठोर कानून बनाने के संबंध में बैठक आयोजित की इस दौरान उन्होने कहा कि प्रदेश में मार्च माह में अंग-भंग के जघन्य अपराध से प्रभावित तीनों महिलाओं को चार-चार लाख रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी. साथ ही उन्होंने कहा कि घरेलू हिंसा को रोकने के लिए सरकार ज्यादा सख्त होने जा रही है.

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने इसके लिए कानून में ज्यादा सख्त प्रावधान करने के निर्देश अफसरों के दिए हैं. इसके साथ ही घरेलू हिंसा की शिकार पीड़िताओं के लिए सरकार द्वारा वेलफेयर स्कीम बनाने ओर प्रदेश के सभी 700 थानों में महिला हेल्प डेस्क खोले जाने की बात भी सीएम ने कही. जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने घरेलू हिंसा को लेकर शनिवार (Saturday) को मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, डीजीपी विवेक जौहरी और अपर मुख्य सचिव गृह डा. राजेश राजौरा के साथ बैठक की. इस दौरान मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने कहा कि घरेलू विवाद के दौरान यदि किसी महिला का हाथ-पैर या अन्य कोई अंग काटा जाता है तो ऐसे अपराध का ज्यादा संगीन माना जाएगा. इसके लिए कानून में सख्त धाराएं जोड़ी जाए.

वर्तमान में ऐसी घटनाओं में आरोपी के खिलाफ धारा 307 यानी हत्या (Murder) के प्रयास का मुकदमा दर्ज किया जाता है. लेकिन अब ऐसे जघन्य मामलों में इससे ज्यादा सख्त धाराओं का प्रवाधान कानून में किया जाए. इसके साथ ही महिलाओं की सहायता के लिए प्रदेश के 700 थानों में महिला हेल्प डेस्क की स्थापना की जाएगी. इन थानों में महिला अधिकारी पदस्थ होंगी तथा पीड़ित महिलाएं आसानी से अपनी रिपोर्ट दर्ज करा सकें इसके लिए प्रत्येक थाने का अलग मोबाइल नंबर दिया जाएगा. घरेलू हिंसा के सामान्य प्रकरणों में त्वरित और कठोर कार्रवाई के लिए व्यवस्था को अधिक संवेदनशील बनाया जायेगा. सीएम ने कहा कि पति या परिवार या अन्य किसी भी आरोपी द्वारा महिला का कोई अंग काटा गया तो हत्या (Murder) के प्रयास से ज्यादा सख्त धारा लगाने का प्रवधान किया जाएगा.

Please share this news