एसएफआईओ ने यूनिटेक लिमिटेड से जुड़े मामलों की जांच रिपोर्ट दाखिल करने की अनुमति मांगी – Daily Kiran
Saturday , 4 December 2021

एसएफआईओ ने यूनिटेक लिमिटेड से जुड़े मामलों की जांच रिपोर्ट दाखिल करने की अनुमति मांगी

 

नई दिल्ली (New Delhi) . गंभीर धोखाधड़ी जांच कार्यालय (एसएफआईओ) ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) को बताया कि उसने यूनिटेक लिमिटेड में अनियमितताओं पर एक रिपोर्ट तैयार की है और उसकी कुछ संपत्तियों का पता लगाया है. एसएफआईओ ने सीलबंद लिफाफे में अपनी रिपोर्ट दाखिल करने की अनुमति मांगते हुए कहा कि उन्हें कुछ मुद्दे न्यायालय के संज्ञान में लाने हैं.

न्यायमूर्ति डीवाई चंद्रचूड, न्यायमूर्ति विक्रम नाथ और न्यायमूर्ति बी वी नागरत्ना ने एसएफआईओ की ओर से पेश अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल माधवी दीवान को इसकी अनुमति देते हुए कहा कि हालांकि उसका इस मामले की गुरुवार (Thursday) को सुनवाई करने का कार्यक्रम था लेकिन कुछ समस्या के कारण विशेष पीठ अगले बुधवार (Wednesday) को सुनवाई करेगी.
पीठ ने कहा कि आप सीलबंद लिफाफे में अपनी रिपोर्ट दाखिल कर सकते हैं, लेकिन मामले पर सुनवाई अगले बुधवार (Wednesday) को होगी. सुनवाई की शुरुआत में दीवान ने मामले का जिक्र करते हुए कहा कि एसएफआईओ ने यूनिटेक लिमिटेड की अपनी जांच पर रिपोर्ट तैयार की हैं. उन्हें समूह की कुछ संपत्तियों का पता चला है और कुछ स्पष्टीकरण चाहिए. उन्हें मिली कुछ संपत्तियां प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा पाई गई संपत्तियों से अधिक हैं.

दीवान ने कहा हमें यह स्पष्टीकरण चाहिए कि क्या एसएफआईओ रिपोर्ट सीलबंद लिफाफे में दाखिल की जानी चाहिए या सामान्य रूप से. हमें कुछ मुद्दे भी अदालत के संज्ञान में लाने की आवश्यकता है. पीठ ने सीलबंद लिफाफे में रिपोर्ट दाखिल करने की अनुमति देते हुए मामले पर अगली सुनवाई के लिए छह अक्टूबर की तारीख तय की.
न्यायालय ने 26 अगस्त को निर्देश दिया था कि यूनिटेक के प्रोमोटर संजय चंद्रा और अजय चंद्रा को यहां तिहाड़ जेल से मुंबई (Mumbai) की आर्थर रोड जेल और महाराष्ट्र (Maharashtra) में तलोजा जेल स्थानांतरित किया जाए. शीर्ष अदालत ने यह आदेश ईडी द्वारा यह सूचित किए जाने के बाद दिया था कि ये लोग जेल कर्मियों की मिलीभगत से जेल परिसर के भीतर से ही कारोबार चला रहे हैं. शीर्ष अदालत ने ईडी द्वारा प्रस्तुत की गईं दो स्थिति रिपोर्ट का अध्ययन करने के बाद चंद्रा बंधुओं से मिलीभगत को लेकर कहा था कि तिहाड़ जेल अधीक्षक और अन्य जेल कर्मी पूरी तरह बेशर्म हैं.

Check Also

शनिश्चरी अमावस्या एवं सूर्य ग्रहण आज एक साथ; भारत में नहीं दिखेगा सूर्य ग्रहण का असर

भोपाल (Bhopal) . आज शनिश्चरी अमावस्या एवं सूर्यग्रहण एक साथ है. इस अवसर पर राजधानी …