Wednesday , 28 July 2021

मुंबई में भगोड़ा मेहुल चोकसी के घर पर बैंकों और जांच एजेंसियों के कई नोटिस चस्पा

मुंबई (Mumbai) . भगोड़ा हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी के मुंबई (Mumbai) स्थित आवास के प्रवेश द्वार पर कई बैंकों, अदालतों और जांच एजेंसियों ने काफी संख्या में नोटिस चस्पा किए हैं. ये सभी नोटिस 2019 से लेकर 2021 तक के हैं. गौरतलब है कि पंजाब (Punjab) नेशनल बैंक (Bank) से 13,500 करोड़ रुपए की कर्ज जालसाजी मामले में चोकसी वांछित है. चोकसी और उसके भांजे नीरव मोदी ने पंजाब (Punjab) नेशनल बैंक (Bank) से कथित तौर पर 13,500 रुपए की जालसाजी की. नीरव मोदी लंदन में जेल में है और अपने प्रत्यर्पण के खिलाफ मुकदमा लड़ रहा है.

चोकसी ने निवेश द्वारा नागरिकता प्राप्त करने के कार्यक्रम का इस्तेमाल करते हुए 2017 में एंटीगुआ और बारबुडा की नागरिकता ले ली थी और जनवरी 2018 के पहले सप्ताह में भारत से फरार होकर वहां चला गया था. बैंक (Bank) से जालसाजी का मामला बाद में सामने आया था. चोकसी और नीरव दोनों CBI जांच का सामना कर रहे हैं. इस बीच, भारत भगोड़े करोबारी मेहुल चोकसी को कैरिबियाई क्षेत्र से वापस लाने के लिए डोमिनिका, एंटीगुआ और बरमूडा की सरकार के सम्पर्क में है. चोकसी हाल ही में एंटीगुआ और बारबूडा से फरार हो गया था और उसके खिलाफ इंटरपोल के येलो नोटिस के मद्देनजर पड़ोसी डोमिनिका में गिरफ्तार किया गया था.

सूत्रों ने कहा कि भारत इस मामले में एंटीगुआ और बारबूडा के सम्पर्क में था और अब उसने डोमिनिका सरकार के साथ सम्पर्क स्थापित किया है. समझा जाता है कि जांच एजेंसियां चोकसी को भारत लाने के लिए मामले को आगे बढ़ा रही है. एंटीगुआ और बारबूडा के प्रधानमंत्री गेस्टॉन ब्राउनी ने कहा कि उन्होंने डोमिनिका को हीरा कारोबारी को सीधे भारत को सौंपने को कहा है. 25 मई की रात को डोमिनिका में चोकसी की गिरफ्तारी की खबर आने के बाद ब्राउनी ने मीडिया (Media) से कहा था कि उन्होंने चोकसी को भारत को भेजने के संबंध में डोमिनिका के प्रशासन को स्पट निर्देश दिया है.

Please share this news