Saturday , 28 November 2020

पैतृक आवास बेच शेन वॉर्न ने कहा- दुखी हूं, पर यहां जो भी रहेगा-खुश रहेगा

नई दिल्ली (New Delhi) . क्रिकेट की दुनिया में ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी शेन वॉर्न को स्पिन का जादूगर कहा जाता है लेकिन वे इश बार अपनी फिरकी के बजाए अपना पैतृक घर बेचने को लेकर चर्चा में हैं. ऑस्ट्रेलिया के इस महान स्पिनर ने यह जानकारी खुद दी है. वॉर्न ने सोशल मीडिया (Media) पर यह भी लिखा है कि वो घर बेचने से दुखी हैं. 145 टेस्ट और 194 वनडे मैच खेल चुके शेन वॉर्न के नाम कुल 1001 इंटरनेशनल विकेट हैं. वो टेस्ट क्रिकेट में मुथैया मुरलीधरन (800) के बाद सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज भी हैं. 51 साल के शेन वॉर्न को दुनिया का सर्वश्रेष्ठ लेग स्पिनर माना जाता है. दिग्गजों को अपनी उंगलियों पर नचाने वाले इस पूर्व क्रिकेटर के पास नाम, शोहरत के साथ दौलत भी है. फिर भी वो अपना आलीशान पुश्तैनी मकान बेच रहे हैं. उन्होंने इसकी जानकारी ट्विटर पर भावुक पोस्ट लिखकर दी है.

शेन वॉर्न ने किया, ‘हां, हम ब्रिगटन, विक्टोरिया का अपना पुश्तैनी मकान बेच रहे हैं. यह दुखद है, लेकिन मैं जानता हूं कि इस शानदार घर में जो परिवार भी रहेगा, वह खुश रहेगा. वह यहां अपनी खूबसूरत (Surat) यादें बनाएंगे.’ हालांकि, वॉर्न ने यह नहीं बताया है कि वे यह घर क्यों बेच रहे हैं. शेन वॉर्न ने 708 टेस्ट विकेट लिए हैं. 1990 के दशक में जब लेग स्पिन गेंदबाजी के भविष्य को लेकर सवाल उठाए जा रहे थे, तब वॉर्न की जादुई फिरकी ने सबकी दृष्टि बदलकर रख दी. उन्हें ‘सेंचुरी ऑफ द बॉल’ फेंकने का श्रेय हासिल है. उन्होंने इस जादुई गेंद पर माइक गैटिंग को बोल्ड किया था. वॉर्न ने टेस्ट मैचों में 3154 और वनडे में 1018 रन भी बनाए हैं. उनका टेस्ट में सर्वोच्च स्कोर 99 रन है.