Tuesday , 15 June 2021

किसी से कम्पटीशन नहीं, सब एक साथ हैं: संजय सिंह


मेरठ (Meerut) . उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मेरठ (Meerut) में आम आदमी पार्टी की किसान पंचायत में पहुंचे राज्यसभा सांसद (Member of parliament) संजय सिंह ने मीडिया (Media) से कहा कि अलग-अलग राजनीतिक पार्टियां अपनी-अपनी पंचायतें कर रही हैं, लेकिन इन पंचायतों को लेकर कोई प्रतियोगिता नहीं है. उन्होंने कहा कि रैली, सभा. पंचायतों को लेकर किसी से कम्पटीशन नहीं है. संजय सिंह ने कहा कि किसानों को लेकर सब लोग एक साथ हैं. उन्होंने कहा कि कृषि क़ानून को वापस कराने के लिए जितनी क्षमता हैं लगाएंगे. संजय ने कहा कि पंचायतें जितनी ज्यादा होंगी बात दूर तक पहुंचेगी. योगी सरकार के चार साल पूरा होने पर भी आप नेता संजय सिंह ने जमकर भड़ास निकाली.

उन्होंने कहा कि चार साल यूपी बेहाल, मंत्री-अधिकारी मालामाल, जनता हो गई कंगाल. उन्होंने कहा कि योगी आदित्यनाथ सरकार की चार साल की हक़ीकत यही है. संजय सिंह ने कहा कि इस सरकार में पिछले चार साल में यूपी की जनता ने नीचे से लेकर ऊपर तक भ्रष्टचार का सामना किया है. तहसील में रिश्वत, अस्पताल में रिश्वत, थाने में रिश्वत, नौकरी के लिए रिश्वत देनी पड़ रही है. उन्होंने कहा कि तमाम योजनाओं के अंदर जमकर भ्रष्टाचार हो रहा है. यहां तक कि कोरोना महामारी (Epidemic) के दौरान भी भ्रष्टाचार हुआ है.

राज्यसभा सांसद (Member of parliament) ने कहा कि यूपी ने चार साल के अंदर ऐसे-ऐसे कांड देखे जो तिहत्तर साल में नहीं हुए. बिकरू कांड, हाथरस कांड का ज़िक्र करते हुए कहा कि अपराध के मामले में यूपी नम्बर वन बन गया है. संजय सिंह ने कहा कि नौजवानों को रोजगार तो नहीं मिला लेकिन रोज़गार का झूठा वीडियो ज़रुर बना. जल जीवन मिशन में भी जमकर भ्रष्टाचार हुआ है. उन्होंने कहा कि इस मामले में कई कागज़ात उनके पास आ गए हैं और बहुत जल्द अगली किश्त का खुलासा वो करेंगे. निजीकरण की प्रक्रिया को लेकर संजय सिंह ने कहा कि इससे पूरे देश में सरकारी नौकरियां खत्म हो जाएंगी.

सरकार रेल बेच रही सेल बेच रही है, कोल इंडिया बेच रही है, एअरपोर्ट बेच रही है, स्टेडियम बेच रही है, एफसीआई बीपीसीएल एलआईसी बैंक (Bank) बिजली सड़क पानी सहित पूरा हिन्दुस्तान बेच रही है. उन्होंने कहा कि अगर निजीकरण होगा तो पूरी तरह से आरक्षण खत्म होगा और सवर्णो को इससे ख़ुश होने की ज़रुरत नहीं है क्योंकि 10 प्रतिशत आरक्षण गरीबी सवर्णों के लिए भी हैं. वो भी समाप्त हो जाएगा.

 

Please share this news