आरएलजी का क्लीन टू ग्रीन ‘ऑनव्हील्स’ अभियान मार्च 2022 तक 5500 मीट्रिक टन ई-कचरा एकत्र करेगा – – Daily Kiran
Thursday , 9 December 2021

आरएलजी का क्लीन टू ग्रीन ‘ऑनव्हील्स’ अभियान मार्च 2022 तक 5500 मीट्रिक टन ई-कचरा एकत्र करेगा –

 

नई दिल्ली (New Delhi)/इन्दौर (Indore) . म्यूनिख-मुख्यालय स्थित रिवर्स लॉजिस्टिक्स ग्रुप (आरएलजी) की सहायक कंपनी आरएलजी इंडिया, जो व्यापक रिवर्स लॉजिस्टिक्स समाधानों की अग्रणी वैश्विक सेवा प्रदाता कंपनी है, ने क्लीन टू ग्रीन ऑनव्हील्स अभियान, जो कि कंपनी के फ्लैगशिप कार्यक्रम क्लीन टू ग्रीन (सी2जी) का नवीनतम संस्करण है, को लॉन्च करने की घोषणा की. यह नवीनतम जागरूकता और संग्रह कार्यक्रम 110 शहरों और 300 कस्बों को कवर करेगा, और देशभर में चार मिलियन से अधिक नागरिकों तक पहुंचेगा. इस पहल के तहत, नौ संग्रह वाहन देश के शहरों और कस्बों में यात्रा करेंगे और स्कूली छात्रों, कॉर्पोरेट निकायों, थोक उपभोक्ताओं, खुदरा विक्रेताओं, रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन (आरडब्ल्यूए) के सदस्यों, अनौपचारिक क्षेत्र और स्वास्थ्य शिविरों में जागरूकता गतिविधियों का संचालन करते हुए अंतिम उपयोगकर्ताओं से 5500 मीट्रिक टन ई-कचरा एकत्र करेंगे.

अभियान नई दिल्ली (New Delhi) और उत्तर में जम्मू, पूर्व में कोलकाता (Kolkata) , गुवाहाटी (Guwahati) और रांची, पश्चिम में अहमदाबाद (Ahmedabad), और देश के दक्षिणी भाग में बैंगलोर, चेन्नई (Chennai) और हैदराबाद में एक साथ शुरू होगा. कई ग्राउंड टीमों के साथ संग्रह वाहन एक निश्चित बीट-प्लान का पालन करेंगे; ग्राउंड टीमें सोशल मीडिया (Media) , क्लीनटूग्रीन पोर्टल, रेडियो और क्लासिफाइड और मीडिया (Media) रिलीज का उपयोग करते हुए 1,145 से अधिक प्रचार और जागरूकता गतिविधियों का संचालन करते हुए अंतिम उपयोगकर्ताओं से ई-कचरे संग्रह की सुविधा प्रदान करेंगी.
जमीन पर, C2G ऑन व्हील्स का लक्ष्य 326 स्कूलों, 188 आरडब्ल्यूए, 134 कार्यालय समूहों / थोक उपभोक्ताओं, 176 खुदरा विक्रेताओं, 156 अनौपचारिक क्षेत्रों और लगभग 4 स्वास्थ्य देखभाल शिविरों को कवर करने का है.

वित्त वर्ष 2011-22 के लिए कंपनी की नवीनतम जागरूकता और संग्रहरण नीति के बारे में बात करते हुए आरएलजी इंडिया की एमडी सु राधिका कालिया ने कहा, “यद्यपि महामारी (Epidemic) का उद्योगों पर महत्वपूर्ण नकारात्मक प्रभाव पड़ा है, हम आरएलजी में भारत के नागरिकों के बीच ई-कचरा जागरूकता फैलाने और देश में एक सुव्यवस्थित, औपचारिक ई-अपशिष्ट प्रबंधन क्षेत्र की स्थापना करने के उद्देश्य की पूर्ति हेतु निरंतर प्रयास कर रहे हैं. क्लीनटूग्रीनटीएम ऑन व्हील्स हितधारकों की पहुंच का विस्तार करके और दैनिक जीवन में ई-कचरे के उपयुक्त निपटान और रीसाइक्लिंग तकनीकों पर जोर और बढ़ावा देकर उद्देश्य पूर्ति हेतु निरंतर अग्रसर है. यह अभियान पूरे देश को अपने दायरे में लाने के लिए विकसित हुआ है.”

आरएलजी इंडिया सेजुड़े प्रतिष्ठित निर्माताओं/ब्रांड्स में माइक्रोसॉफ्ट, एलजी, एचपी, ओप्पो, लेनोवो, पायनियर, मोटोरोला, फुजित्सु, ब्रदर, सीमेंस, हायर, वीडियोजेट, वीरा, एसएमटी, बारटेक, वीडियोटेक्स, डाइवा, शिनको, इन्फिनिक्स, सिटीट्रेडिंग, एआरयू, ट्रोवो, विज़िऑन, अलकेमी, टेक्नो, आईटेल एंड ओर इमो सम्मिलितहैं; अभियान ई-कचरे के सुरक्षित निपटान को बढ़ावा देने के लिए इन ब्रांड्स के साथ सक्रिय रूप से काम करेगा.

Check Also

ट्राई ने नंबर पोर्ट कराना और ज्यादा आसान किया

मुंबई (Mumbai) .टेलिकॉम कंपनियों ने अपने प्रीपेड प्लान को पहले के मुकाबले काफी महंगा कर …