Friday , 16 April 2021

दिल्ली में दिल दहला देने वाला वारदात का खुलासा

नई दिल्ली (New Delhi) . दक्षिण दिल्ली के पुल प्रहलादपुर इलाके में एक युवक ने 25 अक्टूबर को अपनी चार साल की बेटी से दुष्कर्म किया. पत्नी ने उसे रंगेहाथ पकड़ा तो आरोपित ने चाकू से हमला कर उन्हें भी घायल कर दिया. इसके बाद उसने मां-बेटी को घर में कैद कर लिया. दिल्ली पुलिस (Police) से शिकायत नहीं करने का दबाव बनाने के लिए वह पत्नी को रोज पीटने व तलाक देने की धमकी देने लगा. एक सप्ताह बाद महिला किसी तरह भागकर बेटी के साथ जामिया नगर स्थित अपने मायके पहुंची. वहां, उन्होंने भाइयों व मां को आपबीती सुनाई. भाइयों ने यह कहकर उन्हें शांत करवा दिया कि आरोपित को जेल भिजवाया तो मां-बेटी कहां रहेंगी, उनका खर्च कौन उठाएगा. वहीं, बच्ची की नानी ने उसे न्याय दिलाने का संकल्प लिया. उन्होंने एडवोकेट सोफिया सलीम से संपर्क कर शिकायत दर्ज कराई. इसके बाद पुल प्रहलादपुर थाना पुलिस (Police) ने 25 दिसंबर को आरोपित को गिरफ्तार कर लिया. आरोपित की गिरफ्तारी से अब वे लोग भी नानी के साहस की तारीफ कर रहे हैं, जो पहले पुलिस (Police) से शिकायत न करने की सलाह देते थे.

एडवोकेट सोफिया ने बताया कि आरोपित की मारपीट व धमकियों से महिला इतना डरी हुई थी कि उन्होंने कोर्ट में बयान देने से भी इन्कार कर दिया था. उन्हें कई बार समझाने व आरोपित के जेल जाने के बाद सुरक्षा का आश्वासन दिए जाने के बाद वह कोर्ट में बयान देने को तैयार हुईं. मंगलवार (Tuesday) को दुष्कर्म पीड़ति बच्ची का भी मजिस्ट्रेट के सामने बयान दर्ज किया गया. नानी ने सोफिया को बताया कि आरोपित ने अपनी पहली पत्नी को इसलिए छोड़ दिया था, क्योंकि शादी के कई साल बाद तक उन्हें कोई संतान नहीं हुई थी. इस सदमे से एक साल बाद ही उनकी मौत हो गई थी. हालांकि शादी से पहले उसने झूठ बोला था कि उसकी पहली पत्नी खुद उसे छोड़कर चली गई है.

Please share this news