कोहनी मोड़ने की 15 डिग्री की सीमा को हटाये आईसीसी : सकलेन ऑफ स्पिन गेंदबाजी से दूर हो रहे युवा

कराची . पाकिस्तान के पूर्व स्पिनर सकलेन मुश्ताक ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) से कहा है कि गेंदबाजों के लिए कोहनी मोड़ने की 15 डिग्री की सीमा को हटा दे. सकलेन लाहौर में पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के उच्च प्रदर्शन केंद्र में मुख्य कोच हैं. उन्होंने कहा कि इस नियम के कारण युवा खिलाड़ी ऑफ स्पिन गेंदबाजी से दूर हो रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘‘ मैं जानना चाहता हूं कि आईसीसी के विशेषज्ञ गेंदबाजों को केवल 15 डिग्री तक कोहनी मोड़ने की अनुमति देने के निष्कर्ष पर कैसे पहुंचे. क्या उन्होंने एशियाई खिलाड़ियों, कैरेबियाई खिलाड़ियों या किसी अन्य पर शोध किया क्योंकि हर कोई अलग है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘एशियाई खिलाड़ियों का शरीर कैरेबियाई या इंग्लैंड के खिलाड़ियों से थोड़ा अलग है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘ मुझे लगता है कि आईसीसी को इस कानून की समीक्षा करनी चाहिए क्योंकि 15 डिग्री की सीमा बहुत कम है. यह ऑफ स्पिन गेंदबाजी की कला से खिलाड़ियों को हतोत्साहित कर रहा है’’ उन्होंने कहा, ‘‘ मैं व्यक्तिगत रूप से मानता हूं कि कानून के तहत भी कोई ‘ऑफ-स्पिन’, ‘दूसरा’ और ‘टॉप स्पिन’ गेंदबाजी कर सकता है, लेकिन जब से यह नियम सामने आया है, मैंने ऐसे खिलाड़ी देखे हैं जो ऑफ स्पिन गेंदबाजी करते थे लेकिन अब लेग स्पिनर या कलाई के स्पिनर बन गए हैं.’’

Please share this news