रेल यात्रियों का सफर अब और होगा आसान

कोरोना से मिलती राहत के बीच रेल यात्रियों (Passengers) के लिए भी बड़ी खुशखबरी है. कोरोना की दूसरी लहर के कमजोर पड़ने के साथ ही रेलवे (Railway)ने जून में 660 और यात्री गाड़ियों के परिचालन को मंजूरी दी है. ताकि प्रवासी कामगारों की आवाजाही में सुविधा हो. साथ ही विभिन्न स्टेशनों से चलने वाली ट्रेनों में प्रतीक्षा सूची कम हो. कोरोना (Corona virus) महामारी (Epidemic) से पहले रेलवे (Railway)औसतन 1,768 मेल और एक्सप्रेस रेलगाड़ियों का परिचालन रोजाना करता था. रेल प्रवक्ता द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, शुक्रवार (Friday) तक रोजाना करीब 983 मेल और एक्सप्रेस रेलगाड़ियों का परिचालन हो रहा है, जो कोविड-19 (Covid-19) महामारी (Epidemic) से पहले चल रही रेलगाड़ियों के मुकाबले 56 प्रतिशत है. मांग और वाणिज्यिक जरूरत के आधार पर रेलगाड़ियों की संख्या में बढ़ोतरी की जा रही है. एक जून को करीब 800 मेल एवं एक्सप्रेस रेलगाड़ियों का परिचालन हो रहा था. एक जून से 18 जून के बीच विभन्न जोनल रेलवे (Railway)द्वारा 660 अतिरिक्त मेल/,एक्सप्रेस स्पेशल रेलगाड़ियों के परिचालन की मंजूरी दी गई. इनमें से 552 मेल और एक्सप्रेस रेलगाड़ियां हैं जबकि 108 हॉलीडे स्पेशल ट्रेन हैं. रेलवे (Railway)ने बताया कि जोनल रेलवे (Railway)को स्थानीय परिस्थितियों, टिकट की उपलब्धता और क्षेत्र में कोविड-19 (Covid-19) की स्थिति का आकलन करते हुए चरणबद्ध तरीके से रेलगाड़ियों का परिचालन बहाल करने को कहा गया है.

Please share this news