Tuesday , 13 April 2021

लोगों को छत उपलब्ध कराना उनके सपने साकार करना प्रथम उद्देश्य : साव

बिलासपुर (Bilaspur) (बिलासपुर). लोगों को छत देना उनके सपनों को साकार करना है, प्रधानमंत्री आवास योजना को सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए सभी अपूर्ण कार्य जल्द पूर्ण करायें. हम सब जनता और सरकार के बीच की कड़ी हैं. सरकार के कार्यों को जनता तक पहुंचाने वाले माध्यम हैं. उक्त बातें बिलासपुर (Bilaspur) लोकसभा (Lok Sabha) सांसद (Member of parliament) अरूण साव ने जिला विकास समन्वय एवं मूल्यांकन समिति (दिशा) की बैठक में कही.

मंथन सभाकक्ष में आयोजित बैठक में सांसद (Member of parliament) साव ने कहा कि वंचित लोगों तक शासकीय योजनाओं का लाभ त्वरित रूप से पहुंचाने से आत्मसंतोष मिलता है. शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं को लोगों तक पहुंचाने के लिये समन्वित प्रयास की आवश्यकता है. बैठक के प्रारंभ में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी गजेन्द्र सिंह ठाकुर ने एजेंडावार योजनाओं की जानकारी दी. उन्होंने बताया कि मनरेगा के तहत जिले में 344739 परिवार पंजीकृत हैं. चालू वित्तीय वर्ष में 82 लाख मानव दिवस रोजगार उपलब्ध कराने के विरूद्ध 56 लाख 17 हजार रोजगार उपलब्ध कराया गया है. जो कि लक्ष्य का 68 प्रतिशत है. दीनदयाल अंत्योदय योजना (एनआरएलएम) के तहत 554 प्रकरणों का लक्ष्य था, जिनमें से 428 प्रकरण स्वीकृत किये गये हैं. प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत 22 कार्य स्वीकृत किये गये हैं, जिनमें से सभी कार्य प्रारंभ हो गये हैं.

राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम के अंतर्गत इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय विकलांग पेंशन, सामाजिक सुरक्षा पेंशन, सुखद सहारा पेंशन एवं मुख्यमंत्री (Chief Minister) पेेंशन योजना संचालित हैं. जिनमें 1 लाख 36 हजार 222 हितग्र्राही हैं. प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तहत 14056 कार्य स्वीकृत हैं, जिनमें से 4403 कार्य पूर्ण हो चुके हैं. सांसद (Member of parliament) साव ने प्रधानमंत्री आवास योजना के कार्यों को सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए इन्हें जल्द पूर्ण करने के निर्देश दिये. उन्होंने कहा कि इन कार्यों की गुणवत्ता में किसी भी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी. गुणवत्ता पूर्ण आवास पर सभी का अधिकार है. प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना एवं सांसद (Member of parliament) आदर्श ग्राम योजना के कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिये. परंपरागत कृषि विकास योजना की समीक्षा के दौरान उन्होंने उप संचालक कृषि को सतत् रूप से कृषि उपकरण एवं बीज वितरण का कार्य करने कहा. जिला शिक्षा अधिकारी को स्मार्ट क्लासेस के कामों को शीघ्र पूर्ण करने कहा. आरटीई के कार्यों को भी तत्परता के साथ करने कहा. इसके अलावा बैठक में राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल कार्यक्रम, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना, दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना, श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन, अमृत मिशन, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजन, स्मार्ट सिटी मिशन, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, समेकित बाल विकास योजना एवं प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना की भी समीक्षा की गयी.

बैठक में महापौर रामशरण यादव, बिलासपुर (Bilaspur) विधायक शैलेष पाण्डेय, जिला पंचायत अध्यक्ष अरूण सिंह चैहान, एडीएम बी.एस.उईके, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी गजेन्द्र सिंह ठाकुर, नगर निगम के कमिश्नर प्रभाकर पाण्डेय, एसडीएम एवं अन्य विभागीय अधिकारी सहित जनप्रतिनिधि मौजूद थे.

 

Please share this news