Thursday , 30 March 2023

इन टाॅप गैंगस्टर्स को निपटाने की तैयारी, राजस्थान के डीजीपी के साथ मिलकर चार स्टेट के ऑफिसर्स ने बनाया ये तगड़ा प्लान..

देश में पहली बार ऐसा हो रहा है कि कई राज्यों की पुलिस एक साथ मिलकर गैंगस्टर्स के सिंडीकेट को तोड़ने के लिए मिलकर काम कर रही है. अक्सर गैंगस्टर्स या बड़े अपराध एक स्टेट में अपराध करते हैं और बचने के लिए कई दिनों के लिए दूसरे राज्यों में जाकर अपने गुर्गों की मदद से भूमिगत हो जाते हैं. लेकिन अब ऐसा नहीं होगा. गैंगस्टर्स के अलावा उनकी मदद करने वालों के खिलाफ भी सख्त एक्शन लेने की तैयारी है. दरअसल अब पांच राज्यों की पुलिस मिलकर गैंगस्टर के सिंडीकेट को तोडने के लिए पंजा बना रही है. इस पंजे मंे गैंगस्टर्स और उनके गुर्गों का फंसना तय है.

दरअसज आज पुलिस मुख्याल में राजस्थान के डीजीपी उमेश मिश्रा के साथ चार अन्य राज्यों की पुलिस के अफसरों की बैठक है. जयपुर Jaipur स्थित पुलिस मुख्यालय में पंजाब, दिल्ली, हरियाणा, गुजरात राज्य के एडीजी अफसरों समेत चंडीगढ़ के भी पुलिस अफसर रहेंगे. पांच राज्यों के पुलिस अफसर मिलकर यही प्लान करेंगे कि बड़े गैंगस्टर्स का सिंडीकेट कैसे तोड़ा जाए. अधिकतर गैंगस्टर पंजाब और हरियाणा के हैं जो राजस्थान समेत देश के अन्य राज्यों में भी अपनी गैंग फैला रहे हैं. दिल्ली में छुपना आसान है और दिल्ली के कई बड़े गैंगस्टर वहां वारदात कर रहे हैं और फिर अन्य राज्यों मंे फरार हो रहे हैं. राजस्थान के जो दो बड़े गैंगस्टर्स ने वे दोनो ही अब इस दुनिया में नहीं है. ऐसे में राजस्थान में अपराध के साम्राज्य पर कब्जा करने के लिए कई बड़े गैंगस्टर्स अपनी घुसपैंठ कर रहे हैं . इनमें सबसे उपर लाॅरेंस का नाम है. अब पंजाब का लाॅरेंस हो या फिर दिल्ली का नीरज बवाना….. हरियाणा के और बड़े बदमाश हो या फिर गुजरात में बदमाशों को शरण देने वाले उनके गुर्गे…. इन सबके खिलाफ पांच राज्यों की पुलिस अब मिलकर काम कर रही है.

राजस्थान पुलिस के अधिकारियों का कहना है कि राजस्थान के जो जिले पंजाब, दिल्ली, हरियाणा, गुजरात की सीमा से लगे हुए हैं उन जिलों में बाॅर्डर एरिया पर ग्रामीण इलाके हैं. इन इलाकों में अब गश्त और ज्यादा सख्त करने की तैयारी है. गांवों में ग्रामीण पुलिस मित्र बनाए जाएंगे जो नए मेहमानों के बारे में तुंरत लोकल पुलिस को सूचित करेंगे. ताकि गावों में रहने के बाद गैंगस्टर्स चुपके से अन्य जिलों में नहीं पहुंच सके. पहली बार बेहद सख्ती करने की तैयारी है.

Check Also

एक्शन में आईजी, देर संभाग में करवाई नाकाबंदी:अपराधियों-तस्करों में डर पैदा करने देर रात करवाई हथियारबंद नाकाबंदी

संगठित अपराध और वांटेड अपराधियों को पकड़ने के लिए जोधपुर रेंज आईजी जयनारायण शेर ने …