केरल: कांग्रेस से माकपा में आये प्रशांत को पिनाराई सरकार में बड़ा पद

तिरुवनंतपुरम, 26 अक्टूबर . कांग्रेस छोड़कर सत्तारूढ़ माकपा में शामिल होने के तीन साल बाद पी.एस. प्रशांत को गुरुवार को त्रावणकोर देवासम बोर्ड का नया अध्यक्ष नियुक्त किया गया.

प्रशांत एक अन्‍य माकपा नेता के. अनंतगोपन की जगह लेंगे जिनका कार्यकाल शीघ्र ही समाप्त होने वाला है.

विजयन के नेतृत्व में सत्तारूढ़ एलडीएफ के शीर्ष नेतृत्व ने प्रशांत को त्रावणकोर देवासम बोर्ड का नया अध्यक्ष बनाने का फैसला किया. त्रावणकोर देवासम बोर्ड एक प्रतिष्ठित मंदिर बोर्ड है जो प्रसिद्ध सबरीमाला मंदिर सहित दक्षिण केरल के जिलों में उसके सभी मंदिरों की देखरेख की जिम्‍मेदारी संभालता है.

प्रशांत 2021 के विधानसभा चुनावों में राज्य के राजधानी जिले के नेदुमगाडु निर्वाचन क्षेत्र से कांग्रेस के उम्मीदवार थे. वह वर्तमान खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति राज्य मंत्री जी.आर. अनिल से 23 हजार से अधिक वोटों से हार गए थे.

अपनी हार के बाद, वह उन शीर्ष कांग्रेस नेताओं के खिलाफ हो गए, जिन्हें उन्होंने अपनी हार के लिए जिम्मेदार ठहराया और केंद्रीय अधिकारियों पर आरोप मंढा. अगस्त 2021 में उन्‍हें पार्टी से निलंबित कर दिया गया.

प्रशांत सितंबर 2021 में बिना किसी पूर्व शर्त के माकपा में शामिल हो गए और कहा कि उन्होंने कांग्रेस छोड़ने का फैसला किया क्योंकि उस पार्टी का आंतरिक लोकतंत्र खत्‍म हो गया है जबकि लोगों के मुद्दों को जीवित रखने वाली एक धर्मनिरपेक्ष पार्टी के रूप में माकपा की सराहना की.

एकेजे

Check Also

भाजपा ने राजस्थान से पैरालंपिक देवेंद्र झाझरिया को चुनावी मैदान में उतारा, पांच मौजूदा सांसदों का टिकट काटा

जयपुर, 2 मार्च . भाजपा ने शनिवार को लोकसभा चुनाव के लिए 195 उम्मीदवारों की …