Wednesday , 23 June 2021

हाट बाजार खुले रखने को लेकर संक्रमण में भी राजनीति भाजपा कांग्रेस आमने सामने

 

बुरहानपुर (Burhanpur) . जिले में बढते कोरोना संक्रमण मरीजो का आंकडा तेजी से बढा है. एक पखवाडे में यह आंकडा 250 को पार कर चुका है. जिस के चलते पडोसी राज्य महाराष्ट्र (Maharashtra) की सीमाओं पर चौकसी बढाने के साथ वहां से आवागवन पूरी तरहां बंद किया जा रहा है ताकि जिले में बढते संक्रमण पर काबू पाया जा सके.

इस के साथ ही जिले के हाट बाजारों में लगने वाली भीड मास्क का उपयोग करने के साथ दो गज दूरी के फार्मूले पर अमल नही जैसे कारणों के चलते जिला कलेक्टर (Collector) द्वारा इन हाट बाजारों पर प्रतिबंध लगाया गया, लेकिन राजनीति के चलते यह प्रतिबंध 48 घंटे के भीतर वापस लेकर हाट बाजारों को खुला रखने की अनुमति कलेक्टर (Collector) के द्वारा दी गई, जिसे सीधे तौर पर भाजपाईयों की राजनीति कहा जा रहा है. हाट बाजार के व्यापारीयों का एक गुट होली पर्व को मुद्दा बनाकर बाजार चालू रखना चाहता है जिसे कलेक्टर (Collector) ने सैद्धांतिक मंजूरी भी दे दी.

वहीं इस पर कांग्रेस ने एक वक्तव्य जारी कर जिला प्रशासन को आडे हाथ लेते हुए कहा है कि भाजपाईयों संक्रमण में भी राजनीति सूझ रही है उन्हें जिले में फैले संक्रमण से कोई लेना देना नही और जिला प्रशासन भी भाजपा नेताओं को स्थापित करने में मदद कर रहा है. ऐसे आरोप कांग्रेस ने जिला प्रशासन पर लगाऐ है. जिला प्रशासन जहां एक ओर जिले में संक्रमण पर काबू पाने का दावा कर रहा है तो वहीं पिछले दरवाजे से अपने ही आदेशों और प्रतिबंधो को वापस लेकर भाजपा नेताओं को राजनीति का अवसर प्रदान कर रहा है जिले में इन दिनो 15 से अधिक कोरोना मरीज मिल रहे है प्रतिदिन लगभग 500 लोगों की जांच की जा रही है, इस के बाद भी हाट बाजार के नाम पर राजनीति प्रशासन और भाजपा नेताओं के बीच किसी नूरा कुश्ती से कम नही है और इसी को लेकर भाजपा कांग्रेस आमने सामने आ गई है.

Please share this news