Friday , 22 January 2021

चुनाव लड़ने वाले नेताओं, कार्यकर्ताओं को नहीं मिलेंगी राजनीतिक नियुक्तियां


जयपुर (jaipur) . निकाय और पंचायत चुनाव के बाद सरकार राजनीतिक नियुक्तियों को अमली जामा पहनायेगी. लेकिन मापदंडों के फेर में फंसा पेंच कई कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं पर भारी पड़ सकता है.

दरअसल राजनीतिक नियुक्तियों के लिए एक मापदण्ड लगभग तय कर लिया गया है. इसके तहत जिन नेताओं और कार्यकर्ताओं को निकाय और पंचायत चुनाव में टिकट मिल चुका उन्हें राजनीतिक नियुक्तियां नहीं मिलेंगी. चुनाव जीतने वाले तो इस दौड़ से बाहर हो ही जायेंगे. लेकिन चुनाव हारने वालों के सामने इससे बड़ा संकट पैदा हो जायेगा. वे न तो जनप्रतिनिधि बन पायेंगे और ना ही उन्हें कोई राजनीतिक नियुक्ति मिल पायेगी.

कांग्रेस कार्यकर्ता और नेता लंबे समय से राजीनितिक नियुक्तियों का इंतजार कर रहे हैं. सरकार बने हुये करीब दो वर्ष पूरे होने को आ रहे हैं और अभी तक राजनीतिक नियुक्तियां नहीं हो पाई है. इससे नेता और कार्यकर्ता कशमसा रहे हैं. राजनीतिक नियुक्तियों के नाम पर करीब दो साल उन्हें कोरा आश्वासन ही दिया जा रहा है. कभी कोई अड़ंगा आ जाता है तो कभी कोई. इससे राजनीतिक नियुक्तियों की आस पाले बैठे नेता और कार्यकर्ता आजिज आ चुके हैं. वे लगातार दो साल से अपनी सरकार की तरफ टकटकी लगाये देख रहे हैं. अब शायद जल्द ही उनकी उम्मीदों को पंख लगने वाले हैं.

Please share this news