अजय मिश्रा के घर पुलिस ने चस्पा किया नोटिस, आशीष को आज दर्ज कराना है बयान – Daily Kiran
Thursday , 9 December 2021

अजय मिश्रा के घर पुलिस ने चस्पा किया नोटिस, आशीष को आज दर्ज कराना है बयान

लखीमपुर खीरी . उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के लखीमपुर खीरी जिले में रविवार (Sunday) को हुई हिंसा केस में पुलिस (Police) ने केंद्रीय राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष को शुक्रवार (Friday) को आज तलब किया है. पुलिस (Police) ने लखीमपुर में अजय मिश्रा के घर पर नोटिस भी चस्पा किया है. उनके बेटे आशीष मिश्रा को पुलिस (Police) लाइन की विशेष अपराध संख्या में उपस्थित होकर बयान दर्ज करने के लिए कहां गया है. ये नोटिस धारा 147, धारा 148, धारा 149 धारा 279 धारा 338 धारा 304 ए धारा 302, 120 बी के तहत चस्पा की गई है. नोटिस में कहा गया कि व्यक्तिगत रूप से उपस्थित होकर लिखित, मौखिक तथा इलेक्ट्रॉनिक साक्ष्य प्रस्तुत करें और अपना बयान दर्ज कराएं. आशीष मिश्रा को शुक्रवार (Friday) आज सुबह 10 बजे पेश होने को कहा गया है. इस मामले में पुलिस (Police) ने आशीष के दो सहयोगियों को गुरुवार (Thursday) को गिरफ्तार किया गया है. लखीमपुर खीरी में तीन एसयूवी के काफिले से टक्कर के बाद 4 किसानों की मौत हो गई थी. इनमें से एक वाहन आशीष का था. घटना के बाद क्षेत्र में हिंसा भड़क गई थी. इस दौरान कुल मिलाकर 8 लोगों की मौत हुई. मरने वालों में किसानों के अलावा एक पत्रकार, भारतीय जनता पार्टी के दो कार्यकर्ता और एक ड्राइवर का नाम शामिल है.

मीडिया (Media) रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस (Police) में दर्ज शिकायतों में आशीष उर्फ मोनू एकमात्र नामजद आरोपी है. रविवार (Sunday) को हुई घटनाओं में शामिल होने की जानकारी मिलने के बाद आशीष के दो सहयोगियों आशीष पांडेय और लवकुश राणा को गुरुवार (Thursday) को गिरफ्तार कर लिया गया था. तिकोनिया पुलिस (Police) स्टेशन में दो अलग-अलग एफआईआर (First Information Report) दर्ज की गई हैं. बहराइच के रहने वाले जगजीत सिंह ने आशीष और 15-20 अन्य लोगों के खिलाफ एफआईआर (First Information Report) दर्ज कराई है. उन्होंनेहत्या (Murder) और दंगा करने के आरोप लगाए हैं. सुमित जयसवाल की तरफ से दर्ज कराई गई एक अन्य एफआईआर (First Information Report) में अज्ञात लोगों के खिलाफ दंगा करने,हत्या (Murder) और लापरवाही के चलते मौत के आरोप लगाए हैं. तिकोनिया पुलिस (Police) स्टेशन के स्टेशन हाउस ऑफिसर बालेंदु गौतम ने जानकारी दी कि एक एफआईआर (First Information Report) किसानों की तरफ से की गई शिकायत पर आधारित थी.
एडीजी (कानून और व्यवस्था) प्रशांत कुमार की तरफ से गुरुवार (Thursday) को बयान जारी किया गया, ‘तिकुनिया पुलिस (Police) स्टेशन क्षेत्र के तहत खीरी में रविवार (Sunday) को हुई घटना की जांच के दौरान अब तक नामित आरोपी आशीष मिश्रा के अलावा 6 आरोपियों की पहचान कर ली गई है. इन 6 में से 3 की मौके पर मौत हो गई. बचे हुए चार आरोपियों में से दो की पहचान लवकुश और आशीष पांडेय के तौर पर हुई है, जिन्हें गुरुवार (Thursday) को गिरफ्तार कर लिया गया है.’ बयान के अनुसार, आशीष मिश्रा को मामले में दर्ज एफआईआर (First Information Report) को लेकर सारे तथ्य उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए हैं और लिखित, मौखिक या इलेक्ट्रॉनिक सबूत उपलब्ध कराने के लिए शुक्रवार (Friday) सुबह 10 बजे डिस्ट्रिक्ट रिजर्व पुलिस (Police) लाइन के क्राइम ब्रांच कार्यालय में उपस्थित रहने के लिए कहा गया है. फॉरेंसिक विशेषज्ञों की टीम ने बुधवार (Wednesday) को मौके पर मौजूद वाहन से.315 बोर के दो खाली कारतूस बरामद किए हैं. गुरुवार (Thursday) को मेटल डिटेक्टर के जरिए मौका-ए-वारदात की दोबारा जांच की गई.
लखनऊ (Lucknow) रेंज की आईजी लक्ष्मी सिंह ने बताया कि पाया गया है कि गुरुवार (Thursday) को गिरफ्तार हुए लोग कथित रूप से किसानों को कुचलने वाले काफिले में शामिल वाहनों में मौजूद थे. उन्होंने बताया कि एक एफआईआर (First Information Report) में शिकायतकर्ता सुमित जयसवाल भी एक वाहन में मौजूद थे और उन्हें पूछताछ के लिए नोटिस दिया गया है. सुमित बयान दर्ज कराने के लिए गुरुवार (Thursday) शाम तक पुलिस (Police) स्टेशन में पेश नहीं हुए थे. एडीजी कुमार ने बताया कि निष्पक्ष और पारदर्शी जांच के लिए जांच की निगरानी करने वाली कमेटी में कुछ संशोधन किए गए हैं. इस कमेटी की अगुवाई पहले एडीशनल एसपी अरुण कुमार सिंह कर रहे थे और टीम में कुल 6 अन्य लोग भी शामिल थे. इस कमेटी में 2 और वरिष्ठ अधिकारियों को शामिल किया गया और अब इसके प्रमुख डीआईजी उपेंद्र अग्रवाल होंगे और एसपी रैंक के अधिकारी सुनील कुमार सिंह इसके वरिष्ठ सदस्य होंगे.

Check Also

ट्राई ने नंबर पोर्ट कराना और ज्यादा आसान किया

मुंबई (Mumbai) .टेलिकॉम कंपनियों ने अपने प्रीपेड प्लान को पहले के मुकाबले काफी महंगा कर …