Monday , 26 July 2021

पुलिस और एसओजी टीम ने कुख्यात अपराधी दबोच कर भारी मात्रा में असलहा किया बरामद

ललितपुर . त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों की अधिसूचना जारी होते ही पुलिस (Police) प्रशासन अलर्ट मोड़ पर आया. जिसके तहत जनपद पुलिस (Police) द्वारा अपराध और अपराधियों पर लगाम लगाने के लिए चलाए जा रहे धरपकड़ अभियान के क्रम में पुलिस (Police) को बड़ी सफलता हाथ लगी है. जिसमें पुलिस (Police) ने एक शातिर कुख्यात अपराधी के साथ हथियारों का जखीरा बरामद करने में सफलता प्राप्त की है. इस अभियान में थाना बार पुलिस (Police) और एसओजी टीम लगी हुई थी जिन्हें बड़ी सफलता हाथ लगी है,पुलिस (Police) अधीक्षक ने इस सफलता के लिए बधाई देते हुए 10,000 का इनाम देने की भी घोषणा की है.

मिली जानकारी के अनुसार त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों की अधिसूचना जारी होते ही पुलिस (Police) अधीक्षक प्रमोद कुमार के दिशा निर्देशन में जनपद में अवैध शस्त्र और अपराध तथा अपराधियों पर लगाम लगाने के लिए चलाए जा रहे अभियान के क्रम में थाना बार प्रभारी अंजनी कुमार अपनी पुलिस (Police) टीम और एसओजी प्रभारी जितेंद्र सिंह चंदेल बार क्षेत्र में भ्रमण शील थे. क्योंकि उक्त पूराकला थाना क्षेत्र मध्य प्रदेश की सीमा से सटा हुआ है. इसलिए बॉर्डर चेकिंग के साथ-साथ अपराधियों की हरकत पर भी वह नजर बनाए हुए थे. इसी दौरान उन्हें कहीं से एक सूचना प्राप्त हुई कि क्षेत्र में स्थित शहजाद बांध के किनारे खड़े जंगल के बीच में एक साथ अभियुक्त अवैध देशी हथियार बंदूक आदि बनाने में जुटा हुआ है और उसके पास समीपवर्ती मध्य प्रदेश से भी लाए गए कुछ देसी हथियार मौजूद हैं. मुखबिर की सूचना पर दोनों ही टीमें अलर्ट हुई और क्षेत्र की नाकाबंदी कर अभियुक्त की तलाशी शुरू की. इस अभियान के दौरान उनके हत्थे क्षेत्र का इनामी बदमाश गैंगस्टर का आरोपी हिस्ट्रीशीटर बब्बू राजा बुंदेला पुत्र सोबरन सिंह बुंदेला निवासी सेमरा डांग चढ़ गया. इसके साथ ही उसी स्थान से पुलिस (Police) ने हत्या (Murder) रों का एक बड़ा जखीरा बरामद करने में भी सफलता प्राप्त की है.

इस अभियान के दौरान पुलिस (Police) ने एक देसी बंदूक 12 बोर 6 देसी तमंचा 315 बोर दो देसी तमंचा 12 बोर तीन देसी तमंचा 315 बोर अर्ध निर्मित दो जिंदा कारतूस 315 बोर दो जिंदा कारतूस 12 बोर पूर्व निर्मित हालत में बरामद किए. इसके साथ ही करीब डेढ़ दर्जन से अधिक देसी तमंचा बनाने का सामान और ओजार भी बरामद किया है. यह अपने कुछ साथियों के साथ मिलकर क्षेत्र में अपराध की घटनाओं को अंजाम देता था और उन्हीं के साथ मिलकर हथियारों की तस्करी भी करता था. इसके 2 साथी पूर्व में हथियारों की तस्करी में जेल में जा चुके हैं जो वहां निरुद्ध है. पुलिस (Police) अधीक्षक ने इस बड़ी सफलता के लिए टीम को 10,000 रुपए इनाम देने की घोषणा भी की है. मामले का खुलासा करते हुए पुलिस (Police) अधीक्षक ने अभियुक्त को जेल भेज दिया है.एसपी प्रमोद कुमार ने बताया कि पंचायत चुनाव से पहले पुलिस (Police) को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है. जिससे क्षेत्र में हो रही आपराधिक घटनाओं पर तो लगाम लगेगी ही इसके साथ ही पंचायत चुनाव भी शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हो सकेंगे.

इसके साथ ही पुलिस (Police) अधीक्षक ने बताया कि उक्त आरोपी पर गैंगस्टर की कार्रवाई हुई थी और 6 माह के लिए वह जिला बदर भी किया गया था. लेकिन वह जिला बदर होने के आदेशों का उल्लंघन कर रहा था और इलाके में ही रहकर अवैध हथियारों की तस्करी और उनको बनाने में जुटा हुआ था. इस कुख्यात अभियुक्त के ऊपर 3 दर्जन से अधिक आपराधिक मामले दर्ज हैं और यह कई बार जेल भी जा चुका है. इसके पूर्व पुलिस (Police) ने अवैध हथियारों के दो मामलों में इसकी दो साथियों को जेल भेजा है जो जेल में अभी भी निरुद्ध है. यह अपने साथियों के साथ मिलकर इलाके में अपराधिक घटनाओं को अंजाम देता था एवं हथियारों की तस्करी में जुटा रहता था.

Please share this news