Monday , 30 March 2020
लॉकडाउन का उल्लंघन किया तो खाने पडे डंडे

लॉकडाउन का उल्लंघन किया तो खाने पडे डंडे

भोपाल (Bhopal) .खतरनाक कोरोना (Corona virus) के कारण राजधानी भोपाल (Bhopal) सहित इंदोर, जबलपुर ग्वालियर आदि शहरों में अलग-अलग तारीखों में लॉक डाउन किया जा रहा है. इस दौरान लॉकडाउन (Lockdown) का उल्लंघन करने पर पुलिस (Police) अब सख्ती पर भी उतर आई है. लॉक डाउन का उल्लंघन करने पर पुलिस (Police) अब डंडे चलाने से भी नहीं चूक रही है. बीती रात बैतूल में एक वकील द्वारा लॉकडाउन (Lockdown) का उल्लंघन किया गया तो पुलिस (Police) ने पिटाई कर दी. वकील का कहना था कि वह डाइबिटिज का पेशेंट है और इलाज करवाने अस्पताल जा रहा था लेकिन पुलिस (Police) ने उसकी एक नहीं सुनी, और पिटाई कर दी.

कोरोना (Corona virus) के संक्रमण से बचाव के लिए उज्जैन, रतलाम, शाजापुर, मंदसौर, नीमच और आलीराजपुर में 25 मार्च तक लॉकडाउन (Lockdown) है. धार में 24 से 26 और खंडवा में 23 से 26 मार्च तक लॉकडाउन (Lockdown) रहेगा. मंगलवार को मंदसौर में बाजार में घूम रहे लोगों पर पुलिस (Police) ने डंडे मारे. स्वास्थ्य सेवाओं सहित सभी आवश्यक सेवाएं खुली रहीं. रेलवे (Railway)स्टेशन व बस स्टैंड पर भी सन्नाटा रहा. उज्जैन में बेवजह घूमते पाए जाने पर लोगों पर पुलिस (Police) ने सख्ती की. इसके बाद सभी स्थानों पर सन्नााटा दिखाई दिया.

सीमा सील होने के बावजूद इंदौर (Indore) आदि शहरों से कुछ निजी वाहनों की आवाजाही जारी थी. दोपहर बाद यहां भी सख्ती बरती गई. सीमाएं पूरी तरह सील कर दी गईं. रतलाम में कई जगह लोग बेवजह घूमते नजर आए. पुलिस (Police) ने कुछ जगह सख्ती दिखाते हुए लोगों को घर में रहने की हिदायत दी. मंदसौर में लॉकडाउन (Lockdown) के बाद भी बाजार में घूम रहे लोगों को पुलिस (Police) ने रोका. समझाइश दी और डंडे से भी भगाया. अधिकारी-कर्मचारियों ने घर पर ही बैठकर काम कि या. नीमच में राजस्थान से जुड़ी सीमाओं को पूरी तरह सील रखा गया. शाजापुर में आवश्यक वस्तुओ की ही दुकानें खुली रहेंगी. कुछ अन्य दुकानें खुली मिलने पर बंद कराई गईं. खंडवा में सब्जी और कि राना दुकानों पर भीड़ रही.

बुरहानपुर में सन्नाटा पसरा रहा. पूरे जिले में जिला प्रशासन व पुलिस (Police) ने मुनादी कराई. खरगोन में आंशिक संशोधन के अनुसार सब्जी, किराना दुकान, दूध दुकान, सांची पार्लर, पेट्रोल (Petrol) पंप और पीडीएस की दुकानें दोपहर एक से 3 बजे तक ही खोलने की छूट दी गई है. अस्पताल, मेडिकल दुकान, घरेलू गैस एजेंसी व घरेलू गैस वितरण को पूरी तरह छूट दी गई है. 24 मार्च तक यह बंद रहेगा. बड़वानी में कुछ दुकानें खुली होने पर पुलिस (Police) व प्रशासन ने सख्ती से बंद करवाया. बिना काम के घूम रहे लोगों को घर में रहने की समझाइश दी.सोमवार से जिला मुख्यालय व अंजड़ में मुस्लिम समाज ने घरों पर ही नमाज पढ़ने व मस्जिदों में कम से कम संख्या में पहुंचने का निर्णय लिया. देवास में लॉकडाउन (Lockdown) नहीं किया गया, लेकिन धारा 144 के तहत प्रतिबंधात्मक किया गया है

. जानकारी के अभाव में लोग न केवल सुबह से घरों से बाहर निकल आए बल्कि अधिकांश दुकानें भी खुल गईं. 11 बजे पुलिस (Police) बल के साथ प्रशासन लोगों को घर भेजा. 24 मार्च के लिए जनता कर्फ्यू (Public curfew) रहेगा. रविवार रात सेंधवा में होटल (Hotel) में रुके ईरान के 14 लोगों को सिविल अस्पताल ले जाकर जांच की गई. जिले से महाराष्ट्र व गुजरात मजदूरी करने गए ग्रामीण बड़ी चुनौती बन रहे हैं. अभी भी बड़ी संख्या में ग्रामीण गुजरात व महाराष्ट्र में फंसे हैं.