पीएम स्वामित्व योजना गांव के हमारे भाइयों और बहनों की बड़ी ताकत बनने जा रही – Daily Kiran
Thursday , 9 December 2021

पीएम स्वामित्व योजना गांव के हमारे भाइयों और बहनों की बड़ी ताकत बनने जा रही

नई दिल्ली (New Delhi) . प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में स्वामित्व योजना के लाभार्थियों से संवाद 1,71,000 लाभार्थियों को ई-प्रॉपर्टी कार्ड भी वितरित किए.कार्यक्रम में मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के मुख्यमंत्री (Chief Minister) शिवराज सिंह चौहान भी उपस्थित रहे. इस मौके पर पीएम ने कहा कि ये हम अक्सर कहते-सुनते आए हैं, कि भारत की आत्मा गांव में बसती है. लेकिन आजादी के दशकों-दशक बीत गए, भारत के गांवों के बहुत बड़े सामर्थ्य को जकड़ कर रखा गया.उन्होंने कहा कि गांवों की जो ताकत है,गांव के लोगों की जो जमीन है, जो घर है, उसका उपयोग गांव के लोग अपने विकास के लिए पूरी तरह कर ही नहीं पाते थे. उल्टा, गांव की जमीन और गांव के घरों को लेकर विवाद, लड़ाई-झगड़े, अवैध कब्जों में गांव के लोगों की ऊर्जा, समय और पैसा और बर्बाद होता था.

प्रधानमंत्री ने कहा कि हम लोगों ने कोरोना काल में भी देखा है, कि कैसे भारत के गांवों ने मिलकर एक लक्ष्य पर काम किया, बहुत सतर्कता के साथ महामारी (Epidemic) का मुकाबला किया. बाहर से आए लोगों के लिए रहने के अलग इंतजाम हों, भोजन और काम की व्यवस्था हो, वैक्सीनेशन से जुड़ा काम हो, भारत के गांव बहुत आगे रहे. उन्होंने कहा कि देश के गांवों को, गांवों की प्रॉपर्टी को, जमीन और घर से जुड़े रिकॉर्ड्स को अनिश्चितता और अविश्वास से निकालना बहुत जरूरी है.इसकारण पीएम स्वामित्व योजना, गांव के हमारे भाइयों और बहनों की बहुत बड़ी ताकत बनने जा रही है.

स्वामित्व योजना का जिक्र कर पीएम ने कहा कि स्वामित्व योजना,सिर्फ कानूनी दस्तावेज देने की योजनाभर नहीं है, बल्कि ये आधुनिक टेक्नॉलॉजी से देश के गांवों में विकास और विश्वास का नया मंत्र भी है.ये जो ‘गांव-मोहल्ले में उड़न खटोला’ उड़ रहा है, ये जो ड्रोन उड़ रहा है, वहां भारत के गांवों को नई उड़ान देने वाला है. आज खेती की छोटी-छोटी जरूरतों के लिए पीएम किसान सम्मान निधि के तहत सीधे किसानों के बैंक (Bank) खातों में पैसा भेजा जा रहा है. उन्होंने कहा कि वो जमाना देश पीछे छोड़ आया है जब गरीब को एक-एक पैसे, एक-एक चीज के लिए सरकार के पास चक्कर लगाने पड़ते थे.अब गरीब के पास सरकार खुद चलकर आ रही है और गरीब को सशक्त कर रही है.

Check Also

एसकेएम की पांच सदस्यीय समिति की हो सकती हैं शाह और तोमर से मुलाकात

नई दिल्ली (New Delhi) . संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) की पांच सदस्यीय समिति बुधवार (Wednesday) …