Wednesday , 8 April 2020

जी-20 सम्मलेन में आज शामिल होंगे पीएम मोदी, कोरोना पर बनेगा एक्शन प्लान

नई दिल्ली:प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज जी-20 सम्मलेन में वीडियो कॉन्फ्रेंग के जरिए शामिल होंगे. कोरोना वायरस के संकट के बीच इस बार यह सम्मलेन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सऊदी अरब में किया जा रहा है और इसका नाम जी-20 वर्चुअल समिट रखा गया है.
पीएम मोदी ने जी-20 सम्मेलन की बैठक से एक दिन पहले ट्वीट करते हुए कहा कि कोविड-19 महामारी का सामना करने में जी-20 एक अहम भूमिका अदा करनेवाला है.
वर्चुअल समिट को लेकर चर्चा पीएम मोदी की हाल में सऊदी के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान और ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मोरिसन के बीच भी हुई थी. सऊदी अरब की तरफ से जारी बयान के मुताबिक, ऐसी उम्मीद है कि जी-20 की नेताओं की तरफ से लोगों और वैश्विक अर्थव्यवस्था को बचाने के लिए आपसी समन्वय के साथ नीतियां तय की जाएंगी.
जी-20 वैश्विक ईकाईयों के साथ काम करेगा ताकि महामारी के प्रकोप को खत्म किया जा सके. जी-20 वित्त मंत्रियों और केन्द्रीय बैंक के गवर्नर्स के बीच सोमवार को वर्चुअल मीटिंग हुई थी और वैश्विक अर्थव्यवस्था पर महामारी के प्रकोप और वर्चुअल लीडर्स समित की तैयारियों पर बात हुई थी. इस जी-20 सम्मेलन में 19 औद्योगिक देश और यूरोपियन यूनियन शिरकत कर रहे हैं.
कोरोना से भारत में मरीजों आंकड़ा 600 पार
कोरोना वायरस का संक्रमण देश में तेजी से फैल रहा है. स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक अभी तक देश में इससे 10 लोगों की मौत हो चुकी है. राजधानी में मौत का दूसरा मामला सामने आया. वहीं, तमिलनाडु में भी एक मौत हुई है. देश में कोविड-19 के मरीजों की संख्या बढ़कर 605 हो गई.
कोरोना वायरस से निपटने के लिए देश में बुधवार से से लॉकडाउन शुरू हो गया है. यह लॉकडाउन 21 दिनों का है. पीएम मोदी ने मंगलवार रात लॉकडाउन की घोषणा करते हुए लोगों से घर से बाहर नहीं निकलने को कहा. उन्होंने कहा कि यह लॉकडाउन कर्फ्यू जैसा ही होगा. हालांकि, जरूरी सेवाओं की चीजें पहले की तरह ही चलती रहेंगी. इसको लेकर गृहमंत्रालय ने छह पन्नों वाली गाइडलाइन भी जारी की थी.
दुनियाभर में कोरोना से 4 लाख से ज्यादा संक्रमित
दुनियाभर में कोरोना वायरस से मरने वाले लोगों की संख्या 19,246 हो गई है. आधिकारिक सूत्रों से प्राप्त जानकारी के आधार पर एएफपी की गणना के अनुसार दिसम्बर में चीन में इस वायरस का पहला मामला सामने आने के बाद 181 देशों में 427,940 मामले दर्ज किए गए. इटली में इस वायरस से 6,820 लोगों की मौत हो चुकी है और इससे 69,176 लोग संक्रमित है और 8,326 लोग ठीक हो गए है. स्पेन में मरने वालों की संख्या चीन से अधिक हो गई है. स्पेन में इससे 3,434 लोगों की मौत हुई है और 47,610 लोग संक्रमित हुए है. चीन में कोरोना वायरस से 3,281 लोगों की मौत हुई है और इसके 81,218 मामले सामने आए हैं.