Saturday , 11 July 2020
चारधाम यात्रा के विरोध में तीर्थ पुरोहित, सता रहा कोरोना का डर

चारधाम यात्रा के विरोध में तीर्थ पुरोहित, सता रहा कोरोना का डर


उत्तराखंड . लॉकडाउन (Lockdown) 5.0 में धार्मिक स्थलों को खोलने की इजाजत केंद्र सरकार (Government) ने दे दी है. इसके बाद उत्तराखंड सरकार (Government) 8 जून से सीमित संख्या में चारधाम यात्रा को शुरू करने के लिए तैयार है. लेकिन सरकार (Government) के फैसले के खिलाफ पंडा समाज और तीर्थ पुरोहित विरोध में उतर आए हैं. धार्मिक संगठन से जुड़े लोगों का कहना है कि अगर चारधाम यात्रा शुरू हुई,तब संक्रमण फैल सकता है. कोरोना से अभी बचने की जरूरत है.

तीर्थ पुरोहितों का कहना है कि कोरोना संक्रमण कम हो तब ऐसी यात्राओं की शुरुआत हो.मिल रही जानकारी के मुताबिक धार्मिक यात्रा में बेहद कम लोग मौजूद रहने वाले है. यह भी कहा जा रहा है कि केवल राज्य के लोगों को ही यात्रा करने की अनुमति दी जाएगी. दूसरे राज्यों से बसों के संचालन की अनुमति मिलने के बाद ही चारधाम यात्रा को दूसरे राज्यों के पर्यटकों और तीर्थयात्रियों (Passengers) के लिए खोला जाएगा. कोरोना संकट के चलते उत्तराखंड के गंगोत्री, यमुनोत्री, केदारनाथ और बद्रीनाथ के कपाट खोल दिए गए हैं लेकिन यात्रियों (Passengers) के लिए चारोधाम के रास्ते फिलहाल बंद हैं.