Friday , 26 February 2021

कोरोना काल में भारतीय मसाला की डिमांड, इम्युनिटी बढ़ाने के लिए दुनिया भर के लोग कर रहे इस्तेमाल


नई दिल्ली (New Delhi) . कोरोना संकट में भारत ने दुनिया को न सिर्फ दवाइयां दी, बल्कि इम्युनिटी बढ़ाने के लिए दुनिया भारतीय मसालों का भी खूब इस्तेमाल कर रही है. लिहाजा इन मसालों की डिमांड और कीमतें कोरोना काल में बढ़ गई हैं. इसकारण मसाला एक्सपोर्ट में 34 फीसदी तक का उछाल आया है. कोरोना काल में देश ही नहीं, दुनियाभर के लोग इम्युनिटी बढ़ाने में जुटे हैं, इसका सबसे आसान और सटीक तरीका है, औषधीय गुणों वाले मसालों का काढ़ा. इसकारण औषधीय गुणों वाले भारतीय मसालों की मांग अचानक बढ़ी है. नतीजा हल्दी, सोंठ, काली मिर्च जैसे मसालों की कीमतें बढ़ गई हैं.

घरेलू खपत के अलावा विदेशों से भी अच्छी डिमांड है.मसाला बोर्ड ऑफ इंडिया के आकड़ों के अनुसार पिछले साल अप्रैल-जून तिमाही में भारत से कुल 2 हजार करोड़ के मसालों का निर्यात हुआ था, जो इस साल 2 हजार 7सौ करोड़ पर पहुंच गया. एक्सपोर्ट्स के वॉल्यूम में 34 फीसदी का उछाल आया है. पिछले एक महीनों में हल्दी, कालीमिर्च,सोंठ और लौंग की ट्रेडिंग प्राइस में 30 फीसदी तक की बढ़त दिखाई दी है. बता दें कि देश में कोरोना संक्रमण के नए मामले पिछले 24 घंटों के दौरान 73,272 बढ़े हैं. इसके साथ देश में संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 69,79,424 पहुंच गई है. हेल्थ मिनिस्ट्री के मुताबिक इनमें से 9,90,601 सक्रिय केस हैं और 59,88,823 लोग रिकवर कर चुके हैं.

Please share this news