कोरोना के चलते जोधपुर एयरपोर्ट पर यात्री भार हुआ आधार, विमानों की संख्या भी घटी


जोधपुर (Jodhpur) . राजस्‍थान के जोधपुर (Jodhpur) एयरपोर्ट पर कोरोना संक्रमण का काफी असर देखने को मिला है. जोधपुर (Jodhpur) एयरपोर्ट पर यात्री भार आधा हो गया है. वहीं, जोधपुर (Jodhpur) से चलने वाले विमानों की संख्या भी काफी कमी आ गई है. इसके कारण जोधपुर (Jodhpur) एयरपोर्ट को भारी नुकसान उठाना पड़ा है. राजस्थान (Rajasthan)में पर्यटन उद्योग सबसे बड़ा उद्योग माना जाता है.

प्रति वर्ष देश विदेश के लाखों पर्यटक जयपुर, जोधपुर (Jodhpur) और जैसलमेर (Jaisalmer) में हेरिटेज इमारतों और यहां की संस्कृति को देखने आते हैं. लेकिन कोरोना संक्रमण ने इस उद्योग पर ऐसा ग्रहण लगाया है कि अब यह उद्योग खासा संकट में है. खासकर जोधपुर (Jodhpur) का एयरपोर्ट पर यात्री भार में 45 फीसदी की कमी आ गई है. वहीं जैसलमेर (Jaisalmer) में तो 54 फीसदी यात्री भार कम हो गया है. सबसे ज्यादा नुकसान एयर कार्गो को हुआ है. इसके साथ ही सरकारी और निजी एयरलाइंस भी घाटे में आ चुकी है. कई एयरलाइंस को अपने कार्यलय में स्टाफ की कमी करनी पड़ गई है. जोधपुर (Jodhpur) में पिछले साल तक प्रतिवर्ष एक लाख यात्री हवाई यात्रा करते थे. लेकिन इस साल महज 44 हजार 893 यात्रियों (Passengers) ने हवाई यात्रा की है.

बता दें कि कोरोना संक्रमण काल में यात्री भार कम होने के साथ विमानों की संख्या भी तेजी से कम हुई है. जोधपुर (Jodhpur) में 2020 में जहां सालभर में 726 विमान उड़ान भरते थे वह संख्या इस साल 302 पर आ चुकी है. इस दौरान जोधपुर (Jodhpur) एयरपोर्ट पर 424 विमानों की संख्या कम हो चुकी है. पिछले साल मार्च से लगे लॉकडाउन (Lockdown) के बाद से अब तक एयरपोर्ट पर हवाई सेवाएं पटरी पर नहीं आ सकी हैं.

Please share this news