Tuesday , 27 October 2020

पैन इंडिया स्टार प्रभास (बाहुबली) ने हैदराबाद के आउटर रिंग रोड पर रिज़र्व फॉरेस्ट लिया गोद!


हैदराबाद . फ़िल्मों में अपनी एक अलग पहिचान बनाने वाले और सभी दिलों में राज करने वाले लोकप्रिय अभिनेता प्रभास ने अब फ़िल्म जगत से हट कर एक नया आदर्श प्रस्तुत किया है. हैदराबाद के समीप 1650 एकड़ में विस्तृत आरक्षित वन क्षेत्र को पूर्ण रूप से विकसित करने का निर्णय लिया है. वन क्षेत्र के विकास के लिए जो भी धनराशि आवश्यक होगी उसे प्रदान करने हेतु अपनी सहमति जतायी. यह वन क्षेत्र संगारेड्डी जिला के खाजीपल्ली ग्राम परिधि में स्थित है, जो कि दुंदिगल के काफी समीप है. उनका यह प्रयास, संसाधनों की कमी से वनों के पिछड़ते विकास में न सिर्फ गति प्रदान करेगा बल्कि इस दिशा में एक मील का पत्थर भी साबित होगा.

अपने इस प्रयास को एक कार्य प्रणाली का स्वरूप प्रदान करने हेतु प्रभास ने आज राज्य सभा सांसद (Member of parliament) जोगिनापल्ली संतोष कुमार के साथ खाजीपल्ली आरक्षित वन क्षेत्र का स्वयं निरीक्षण किया. उन्होंने यह भी कहा कि संतोष कुमार द्वारा कार्यान्वित “ग्रीन चैलेंज” से प्रभावित होकर ही उन्होंने ये कदम उठाया. आज वो तिलंगाना राज्य के वन मंत्री अल्लोल इंद्रकरन रेड्डी, राज्य सभा सांसद (Member of parliament) संतोष कुमार के साथ इस शुभ कार्य को प्रारंभ करने हेतु आधारशिला कार्यक्रम में सम्मिलित भी हुए.

उनका यह प्रयास खाजीपल्ली ग्राम और समीप के क्षेत्रों में रहने वाले ग्राम वासियों को एक सुंदर नगर वन उद्यान ही नही बल्कि एक नयी उमंग और खुशियां प्रदान करेगा. यह नगर वन उद्यान दुंदिगल, गागिल्लापुर, किस्टाइपल्ली, गुंडलपोचम्पली और अन्य समीपस्थ स्थानों के लिए शुद्ध ऑक्सिजन और खुले आसमान के नीचे व्यचरण करने का स्वर्णिम अवसर प्रदान करेगा. इस वन क्षेत्र की महिमा इसलिए भी बढ़ जाती है कि यहां कई तरह की औषधियों के पेड़ पौधे पाये जाते हैं. इस तरह की पहल राज्य में चल रहे वृक्षा रोपण कार्यक्रम “हरित हारम” को एक नया आयाम प्रदान करेगा. नगर वन उद्यान कार्यक्रम राज्य में एक सन्तुलित विकास को उजागर करता है. शहरों में रहने वाले हर एक ब्यक्ति को शुद्ध हवा, पानी, प्रदूषण से मुक्ति और अच्छे स्वास्थ्य बनाये रखने का अवसर प्रदान करते हैं.

राज्य सभा सांसद (Member of parliament) सन्तोष कुमार ने भी जंगलों के पुनर्वास के लिए कीसरा वन क्षेत्र को अपनाया है और उसके विकास के लिए हर संभव प्रयास किया है. उन्होंने अवगत कराया कि इस तरह के प्रयास निरन्तर जारी रहेंगे और प्रमुख उद्योग पतियों को भी इस तरह के प्रयासों से जोड़ने के लिए आव्हानित किया जाएगा. इस कार्यक्रम में वन और पर्यावरण मंत्री इंद्रकरन रेड्डी, विशेष प्रधान सचिव, शांति कुमारी, अति मुख्य वन संरक्षक, सोभा रेवुरी, अति मुख्य वन संरक्षक, राकेश मोहन डोबरियाल, संगारेडी जिला कलेक्टर (Collector) एम हमुमन्थ राव, पुलिस (Police) अधीक्षक चन्द्र शेखर रेड्डी, जिला वन अधिकारी वेंकेश्वर राव, वन और राजस्व भिभाग के अधिकारी शामिल हुये.