Monday , 14 June 2021

यमुना में पर्याप्त मात्रा में पानी छोड़ने के लिए हरियाणा को दें आदेश

नई दिल्ली (New Delhi) . हरियाणा (Haryana) को यमुना का पानी छोड़ने का निर्देश देने की मांग वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) सुनवाई के लिए तैयार हो गया है. यह याचिका दिल्ली जल बोर्ड ने दाखिल की थी. इसमें कहा गया है कि हरियाणा (Haryana) सरकार को निर्देश दिया जाए कि वह यमुना नदी में प्रदूषित और बिना ट्रीटमेंट के पानी न बहाए और राजधानी दिल्ली के लिए उचित मात्रा में पानी रिलीज करे.

सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) के चीफ जस्टिस एसए बोबडे की अगुवाई वाली बेंच ने कहा है कि वह दिल्ली जल बोर्ड की अर्जी पर गुरुवार (Thursday) को सुनवई करेगा.जल बोर्ड की नई अर्जी में कि यमुना में ट्रीटमेंट वाले पानी की आपूर्ति कम कर दी गई है जिससे दिल्ली में पानी की कमी हो रही है.

गौरतलब है कि 13 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) ने यमुना प्रदूषण मामले में संज्ञान लिया था. सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) ने मामले में एडवोकेट मीनाक्षी अरोड़ा को कोर्ट सलाहकार नियुक्त किया था. यमुना प्रदूषण के व्यापक मुद्दे को सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) ने परीक्षण का फैसला किया था. सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) में दिल्ली जल बोर्ड ने कहा था कि हरियाणा (Haryana) में बड़े पैमाने पर यमुना में प्रदूषण हो रहा है. हरियाणा (Haryana) में यमुना में बड़ी मात्रा में अमोनिया और क्लोरीन रिलीज किया जा रहा है. दिल्ली जल बोर्ड की ओर से सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) में सुनवाई के दौरान हरियाणा (Haryana) सरकार पर आरोप लगाया गया था कि हरियाणा (Haryana) में बिना ट्रीट किए हुए डिस्चार्ज को यमुना में प्रवाहित किया जा रहा है. इस कारण यमुना नदी में अमोनिया लेवल में बढ़ोतरी हो रही है.

Please share this news