Sunday , 6 December 2020

शतक मारने की तैयारी में,75 रूपए किलो पहुंची प्याज

छिंदवाड़ा जबलपुर (Jabalpur) . प्याज के दाम अब सैकड़ा के आंकड़े को छूने वाले हैं. जल्द ही एक किलो प्याज के लिए आम उपभोक्ता को सौ रुपए भी चुकाने पड़ सकते हैं. वर्तमान में जिस एक किलो प्याज के लिए 75 रूपए चुकाने पड़ रहे हैं उसी 75 रूपए से एक माह पहले 5 किलो प्याज मिल रही थी. देखते ही देखते आम गरीब की सब्जी से प्याज बाहर हो चुका है. प्याज विक्रेताओं का मानना है कि यह उछाल एक सप्ताह से हुआ है जबकि बाजार में विगत 20 सितंबर तक 15 रुपए किलो प्याज मिल रहा था वह प्याज पांच गुना (guna) अधिक दामों में पहुंच चुका है. इसके लिए बताया जा रहा है कि स्थानीय प्याज खत्म हो चुकी है बाहरी प्याज आ नहीं रही. हालांकि थोक और फुटकर की कीमतों में भी भारी अंतर है, 75 से 80 रूपए फुटकर में बिकने वाली प्याज थोक में 50 रूपए किलो है.

गत साल भी उछले थे दाम

प्याज के दाम इन्ही दिनों हर साल उछलते हैं और शासन सरकार (Government) के दखल एवं नियंत्रण के बाद इनके दामो ंमें कमी आती है गत साल प्याज के दाम 150 रुपए किलो तक पहुंच गए थे. सरकार (Government) द्वारा जमाखोरी पर लगाम एवं प्याज की राशनिंग करने के बाद अचानक ही बाजार में प्याज आ गई थी और दाम सामान्य हो गए थे. पिछले माह 20 सितंबर तक 15 रुपए किलो, 27 सितंबर तक 25 रुपए किलो, 5 अक्टूबर तक 40 रूपए किलो तक चले प्याज के भाव 15 अक्टूबर के बाद से 60रूपए किलो तक बिक गए. शुक्रवार (Friday) तक अच्छे क्वालिटी की प्याज 75 से 80 रूपए किलो तक पहुंच चुकी है.