पीएम मोदी के जन्मदिन पर कांग्रेस का तंज, बेरोजगारी दिवस’,किसान विरोधी दिवस सबसे उपयुक्त तोहफा – Daily Kiran
Wednesday , 20 October 2021

पीएम मोदी के जन्मदिन पर कांग्रेस का तंज, बेरोजगारी दिवस’,किसान विरोधी दिवस सबसे उपयुक्त तोहफा

नई दिल्ली (New Delhi) . कांग्रेस ने शुक्रवार (Friday) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) के जन्मदिन पर उन्हें बधाई दी, साथ ही मोदी सरकार की ‘विफलताओं’ का हवाला देकर कहा कि उनके जन्मदिन को ‘बेरोजगारी दिवस’,किसान विरोधी दिवस’, ‘कोरोना कुप्रबंधन दिवस’ और ‘महंगाई दिवस’ के रूप में मनाना उपयुक्त होगा. पार्टी की प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने कहा,आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) जी का जन्मदिवस है, उन्हें शुभकामनाएं, वह दीर्घायु हों.उन्होंने कहा,भारत के महान प्रधानमंत्रियों के जन्मदिवस को एक एक नाम दिया गया है, जैसे बच्चों के प्रिय चाचा नेहरू के जन्मदिन को बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है. इंदिरा जी के जन्मदिन को कौमी एकता दिवस के रूप में, राजीव जी के जन्मदिन को सद्भावना दिवस और अटल जी के जन्मदिन को सुशासन दिवस’ के रूप में मनाया जाता है.’’

कांग्रेस नेता सुप्रिया ने सवाल किया, आज सुबह हर अखबार के कवर पर पूरे पन्ने के विज्ञापनों में मोदी जी का मुस्कराता चेहरा देख कर यह ख़्याल आया कि मोदी जी के जन्मदिन पर उनकी कौन सी उपलब्धि का जश्न मनाया जाए?’’ उन्होंने तंज कसते हुए कहा, प्रधानमंत्री मोदी की उपलब्धियों पर गौर करे,तब बीते सात वर्षों में रोजगार के लिए दर दर की ठोकरें खाते युवा, शोषित किसान, बंद उद्योग, ऑक्सीजन के बिना तड़प तड़प कर दम तोड़ते लोग, महंगाई से जूझती जनता, गैस छोड़ चूल्हा फूंकती महिलाएं, बड़े सरकारी उपक्रमों की बिक्री, भाजपा के सहयोगी संगठन बनी ईडी, CBI एवं आयकर विभाग और कुछ ख़ास चिर परिचित बड़े पूंजीपतियों के चेहरे ही आंखों के सामने आते हैं.’’ इसकारण कांग्रेस के द्वारा मोदी के जन्मदिन को ‘बेरोजगारी दिवस, ‘किसान विरोधी दिवस’, ‘कोरोना कुप्रबंधन दिवस’, ‘महंगाई दिवस’, ‘उद्योग मंद, व्यापार बंद दिवस’, ‘पूंजीपति पूजन दिवस’ और ‘ईडी, सीबीआई, आईटी रेड दिवस’ के रूप में मनाना उपयुक्त रहेगा. उन्होंने सरकार पर निशाना साधकर सवाल किया,जब अगस्त में 15 लाख, जुलाई में 32 लाख, मई और अप्रैल में 2.27 करोड़ लोगों की नौकरियां खत्म होती हैं,तब मन में सवाल उठता है कि सालाना 2 करोड़ रोजगार कहां हैं?आखिर क्यों 61 लाख सरकारी पद केंद्र और राज्य सरकारों में खाली पड़े हैं?’’

600 से ज्यादा किसान शहीद हो गए, प्रधानमंत्री के मुंह से सहानुभूति का एक शब्द नहीं निकला…आज 900 रुपये की रसोई गैस, 95 रुपये का डीजल और 120 रुपये पेट्रोल (Petrol) बिक रहा है. खाने के तेल में आग लगी हुई है, दाल के दाम आसमान छू रहे हैं …नोटबंदी के आपके तुगलकी फरमान और बिना सोचे समझे ‘गब्बर सिंह टैक्स’ लगाने की वजह से देश भर में उद्योग धंधे चौपट हो गए.कांग्रेस नेत्री सुप्रिया ने दावा किया, मोदी जी, कोरोना काल में आपकी उदासीनता और विफलता ने तो देश में त्राहि-त्राहि मचा दी.फोटा आपने खूब खिंचायीं, लेकिन वैक्सीन के ऑर्डर देरी से दिए और बहुत कम दिए-इसकारण आज तक मात्र 13 प्रतिशत जनता मतलब 18.7 करोड़ लोगों को ही दोनों खुराक लगी हैं.’’ सुप्रिया ने कटाक्ष करते हुए कहा,सात साल की यह कुछ उपलब्धियां आज आपको शायद प्रेरित करें.

Please share this news

Check Also

तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भाजपा उम्मीदवार और एक विधायक के साथ धक्का-मुक्की की

कूचबिहार (Bihar) . पश्चिम बंगाल (West Bengal) के कूचबिहार (Bihar) जिले में भारतीय जनता पार्टी …