प्रदेश में 24 जून को कोविड वैक्सीन की दो लाख दस हजार से अधिक डोज दी गई

रायपुर (Raipur). प्रदेश में 24 जून को 4191 सेशन साइट में कोविड वैक्सीन की 2 लाख 10 हजार 34 डोज दी गई. 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के एक लाख 58 हजार 191 युवाओं को पहली डोज दी गई. देश के कई राज्यों में जहां टीकाकरण अभियान कम हुआ है वहीं छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में टीकाकरण में लगातार वृद्धि हो रही है. प्रदेश में 21 जून को 91 हजार 172, 22 जून को 1 लाख 9 हजार 353 और 23 जून को 1 लाख 58 हजार 472 लोगों को टीका लगाया गया है. भारत सरकार के कोविन पोर्टल के अनुसार प्रदेश में कोरोना वैक्सीन के वेस्टेज का औसत प्रतिशत 25 जून की स्थिति में 0.83 है. राज्य के 19 जिलों में वैक्सीन वेस्टेज एक प्रतिशत से भी कम है. जबकि कोरोना वैक्सीन का राष्ट्रीय वेस्टेज दर इससे कहीं ज्यादा है.

मिशन संचालक, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन एवं कोरोना टीकाकरण की राज्य नोडल अधिकारी डॉ. प्रियंका शुक्ला ने बताया कि 24 जून को अवकाश के बावजूद अधिकांश जिलों में वैक्सीनेशन हुआ. बालोद में 10247, बलौदाबाजार में 7628, बस्तर में 2244, बेमेतरा में 5532, बीजापुर में 895, बिलासपुर (Bilaspur) में 11470, दंतेवाडा में 1101, धमतरी में 7915, दुर्ग जिले में 14730, गरियाबंद में 2587, गोरेला-पेंड्रा-मरवाही में 1352, जशपुर में 3725, कबीरधाम में 3372, कांकेर में 6562, कोंडागांव में 1861, कोरबा में 9421, कोरिया में 3529, महासमुंद में 15242, मुंगेली में 3682, नारायणपुर में 307, रायगढ़ में 21683, रायपुर (Raipur) (Raipur) में 24613, राजनांदगांव में 29387, सुकमा में 792, सूरजपुर में 3883, बलरामपुर में 2839, जांजगीर-चांपा में 7488 तथा सरगुजा में 5947 लोगों को कोरोना से बचाव का टीका लगाया गया. वैैैक्सीन लगाने के बाद भी कोविड अनुरूप व्यवहार करना, मास्क लगाना, शारीरिक दूरी रखना एवं हाथों की सफाई आवश्यक है जिससे कोरोना के खतरे से बचा जा सके.

Please share this news