Sunday , 11 April 2021

26 जनवरी को ‘दिल्ली मरजानी’ और ‘पंजाब सिंह’ का अनोखा विवाह, किसानों ने लोगों को भेजा निमंत्रण

नई दिल्ली (New Delhi) . केंद्र सरकार (Central Government)के नए तीन कृषि कानूनों के खिलाफ लामबंद किसानों ने प्रदर्शन का अनोखा तरीका अपनाते हुए 26 जनवरी को ‘दिल्ली मरजानी’ और ‘पंजाब (Punjab) सिंह’ का अनोखा विवाह का निमंत्रण लोगों को भेजा है. दरअसल, आंदोलन को मजबूत और तेज करने के लिए किसान आए दिन कुछ न कुछ नए-नए प्रयोग करते रहते हैं. कभी भूख हड़ताल तो कभी ट्रैक्टर रैली तो कभी मौन धारण, किसान किसी न किसी तरीके से कृषि कानून के खिलाफ अपना विरोध जता रहे हैं.

वहीं इस बार किसानों ने बड़े ही रोचक तरीके से विरोध जताया है जो सोशल मीडिया (Media) पर काफी वायरल हो रहा है. किसान 26 जनवरी को ट्रैक्टर मार्च के साथ ही पंजाब (Punjab) और दिल्ली की शादी करवाने जा रहे हैं. पंजाब (Punjab) और दिल्ली की शादी के लिए किसानों ने कार्ड भी छपवाया जो सोशल मीडिया (Media) के जरिए लोगों तक पहुंचाया जा रहा है. किसानों की ओर से जारी शादी के कार्ड में दूल्हे का नाम ‘पंजाब (Punjab) सिंह’ एवं दुल्हन का नाम ‘दिल्ली मरजानी’ रखा गया है. कार्ड पर न्यौता देते हुए लिखा गया कि जिस किसी भी किसान भाई ने बारात में शामिल होना हो वो अपने ट्रैक्टर या ट्राली समेत आए. हर किसी को खुला बुलावा है. इतना ही नहीं खाने के इंतजाम के बारे में भी लिखा गया है कि भोजन का खुला इंतजाम है, जितना मर्जी खाएं. बरात चलने का समय 26 जनवरी दिन मंगलवार (Tuesday) को सुबह 10 बजे है.

किसान 26 जनवरी को ट्रैक्टर मार्च निकालने वाले हैं. शादी के इस कार्ड के जरिए अन्य किसानों को भी इस मार्च में शामिल होने का एक तरह का न्यौता है. बता दें कि इससे पहले 7 जनवरी को किसानों ने ट्रैक्टर मार्च निकाला था. हरियाणा (Haryana) -दिल्ली की सीमा, सिंघू बॉर्डर पर सड़कों पर सिर्फ ट्रैक्टर, उनपर सवार किसान, उनपर बंधे लाउडस्पीकर दिख रहे थे और पंजाबी धुनों/गीतों के साथ नारे सुनाई दे रहे थे. दिल्ली-हरियाणा (Haryana) की सीमा पर पिछले करीब डेढ़ महीने से प्रदर्शन कर रहे हजारों किसानों ने कृषि कानूनों के खिलाफ अपने विरोध को मजबूत करने के लिए ट्रैक्टर मार्च निकाला था. किसानों ने कहा था कि यह सरकार के लिए एक ट्रेलर है, 26 जनवरी को इससे ज्यादा बड़ा मार्च होगा.

Please share this news