Monday , 30 March 2020
उमर अब्दुल्ला ने कहा, लाकडाउन में नेताओं को हिरासत में रखना क्रूरता होगी

उमर अब्दुल्ला ने कहा, लाकडाउन में नेताओं को हिरासत में रखना क्रूरता होगी


श्रीनगर (Srinagar) . नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने बुधवार (Wednesday) को उम्मीद जाहिर कि सरकार (Government) पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती सहित जम्मू-कश्मीर के नेताओं को हिरासत से रिहा करेगी. उन्होंने कहा कि देश में तीन हफ्ते का लॉकडाउन (Lockdown) हो गया है, इसके बाद इन नेताओं को हिरासत में रखना क्रूरता होगी. पिछले साल पांच अगस्त को विशेष राज्य का दर्जा देने वाला अनुच्छेद 370 हटाने के बाद महबूबा मुफ्ती, नईम अख्तर, अली मोहम्मद सागर, पीर मंसूर और शाह फैजल सहित कुछ नेताओं को एहतियाती हिरासत में लिया गया था और अब वे जन सुरक्षा कानून के तहत हिरासत में हैं.

उमर ने ट्वीट किया, वर्तमान हालात में महबूबा मुफ्ती तथा अन्य को लगातार हिरासत में रखना संवेदनहीनता और क्रूरता है. मुझे प्रधानमंत्री कार्यालय, गृह मंत्रालय (Home Ministry) से उम्मीद है कि उन्हें रिहा किया जाएगा. उमर को करीब आठ महीने की हिरासत के बाद मंगलवार (Tuesday) को रिहा किया गया था. पांच अगस्त से हिरासत में रहे उमर पर फरवरी में जन सुरक्षा कानून के तहत आरोप लगाए गए थे.