ओईसीडी ने 2024 के लिए भारत का विकास अनुमान बढ़ाकर 6.2 प्रतिशत किया

नई दिल्ली, 5 फरवरी . आर्थिक सहयोग और विकास संगठन (ओईसीडी) ने सोमवार को जारी अपने नवीनतम अंतरिम आर्थिक आउटलुक में 2024 के लिए भारत के विकास अनुमान को बढ़ाकर 6.2 प्रतिशत कर दिया है.

विकसित देशों का प्रतिनिधित्व करने वाले ओईसीडी ने पिछले साल नवंबर में अपने पहले आउटलुक में भारत की विकास दर 6.1 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया था.

आउटलुक में कहा गया है, “कड़ी वित्तीय स्थितियों के बावजूद उभरती बाजार अर्थव्यवस्थाएं आम तौर पर तेज गति से बढ़ती रही हैं, जो बेहतर व्यापक आर्थिक नीति ढांचे, भारत सहित कई देशों में बुनियादी ढांचे में मजबूत निवेश और स्थिर रोजगार के लाभों को दर्शाती है.”

ओईसीडी ने 2025 के लिए भारत के लिए अपने विकास पूर्वानुमान को 6.5 प्रतिशत पर अपरिवर्तित रखा है. आउटलुक में कहा गया है कि उच्च-आवृत्ति गतिविधि संकेतक आम तौर पर हालिया मध्यम वृद्धि की निरंतरता का सुझाव देते हैं.

ओईसीडी की रिपोर्ट में कहा गया है कि वैश्विक अर्थव्यवस्था कुछ महीने पहले की अपेक्षा इस साल बेहतर प्रदर्शन करने की राह पर है क्योंकि अमेरिका में बेहतर परिदृश्य ने यूरो क्षेत्र की कमजोरी को दूर कर दिया है.

रिपोर्ट के अनुसार, विश्व आर्थिक वृद्धि 2023 में 3.1 प्रतिशत से घटकर इस वर्ष 2.9 प्रतिशत होने की उम्मीद है, जो नवंबर के अनुमान में अनुमानित 2.7 प्रतिशत से बेहतर है.

आउटलुक में कहा गया है, “सभी देशों में भारत में मजबूत निकट अवधि की गति, यूरोप में सापेक्ष कमजोरी और अधिकांश अन्य प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में निकट अवधि की वृद्धि के स्पष्ट संकेत बने हुए हैं.”

वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिए बेहतर परिदृश्य एक स्वागत योग्य संकेत है क्योंकि इसमें भारतीय निर्यात के लिए उच्च मांग पैदा करने की भी क्षमता है.

भारत के वित्त मंत्रालय को पहली तिमाही में 7.8 प्रतिशत और दूसरी तिमाही में 7.6 प्रतिशत की स्वस्थ वृद्धि के बाद 2023-24 में सात प्रतिशत से अधिक की वृद्धि की उम्मीद है.

चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही में अच्छे प्रदर्शन के बाद आरबीआई ने देश की विकास दर का अनुमान पहले के 6.5 फीसदी से बढ़ाकर सात फीसदी कर दिया है.

एकेजे/

Check Also

जापान ने नौ बुनियादी ढांचा परियोजनाओं के लिए भारत को दिया 12,814 करोड़ रुपये का ऋण

नई दिल्ली, 20 फरवरी . जापान सरकार ने मंगलवार को भारत में विभिन्न क्षेत्रों की …