Saturday , 15 May 2021

नर्सिंग की छात्रा ने गर्ल्स होस्टेल में फांसी लगाकर जान दी

राजकोट (Rajkot) . शहर के एचएन शुक्ला नर्सिंग कॉलेज की छात्रा के होस्टेल के अपने रूम में फांसी लगाकर आत्महत्या (Murder) की घटना से सनसनी फैल गई. आत्महत्या (Murder) के कारणों का फिलहाल पता नहीं चला. पुलिस (Police) ने छात्रा का शव पोस्टमोर्टम के लिए भेज कानूनी कार्रवाई शुरू की है.

जानकारी के मुताबिक सुरेन्द्रनगर के लखतर गांव की मूल निवासी 22 वर्षीय सुजाता प्रवीणभाई चौहाण नामक युवती राजकोट (Rajkot) की एचएन शुक्ला नर्सिंग कॉलेज की तृतीय वर्ष की छात्रा थी. ऑनलाइन पढ़ाई के साथ ही सरकार के निर्देशानुसार सुजाता कोविड होस्पिटल में सेवा कर रही थी. पिछले चार महीने से सुजाता राजकोट (Rajkot) के सिविल होस्पिटल के कोविड सेंटर में बतौर स्टुडेन्ट नर्स (Nurse) सेवारत थी. ड्यूटी के दौरान न्यू नर्सिंग होस्टेल में 8वीं मंझिल पर रूम 830 में सुजाता रहती थी. बीते दिन छुट्टी होने से सुजाता अपने कमरे में थी और वक्त किन्हीं कारणों से फांसी लगाकर स्युसाइड कर लिया. रूम पार्टनर ने जब शाम को कमरे का दरवाजा खोला तो भीतर का नजारा देख चौंक उठी. कमरे में सुजाता का छत से लटक रहा था. सुजाता के आत्महत्या (Murder) के कारणों का पता नहीं चला. पुलिस (Police) को घटनास्थल से कोई स्युसाइड नोट भी नहीं मिला. साथ ही सुजाता ने कभी अपने दोस्तों या परिवार से किसी के द्वारा उसे परेशान किए जाने की शिकायत भी नहीं की थी.

हांलाकि सुजाता की तबियत ठीक नहीं होने की वजह से वह एक महीने की छुट्टी पर अपने घर जाने वाली थी. अपनी माता के साथ अंतिम बातचीत में सुजाता ने कहा कि उसकी तबियत अच्छी नहीं रहती, इसलिए वह एक महीने के लिए घर आ रही है. सुजाता के बजाए उसका शव घर लौटने से परिवार शोक में डूब गया.

Please share this news