अब लंदन के वर्ल्ड ट्रैवल मार्केट में गूंजेगा उत्तर प्रदेश का नाम

लखनऊ, 20 अक्टूबर . उत्तर प्रदेश के आर्थिक ढांचे को मजबूत करने की दिशा में प्रयास कर रही सरकार अब विदेशों में भी राज्य की ब्रांडिंग करेगी. ग्लोबल लेवल पर उत्तर प्रदेश के टूरिज्म सेक्टर की धाक जमाने के उद्देश्य से योगी सरकार ब्रिटेन की राजधानी लंदन स्थित वर्ल्ड ट्रैवल मार्केट में 6 से 9 नवंबर के मध्य आयोजित होने जा रहे टूरिज्म एक्सपो में उत्तर प्रदेश को बतौर ब्रांड व फेवरेबल टूरिस्ट डेस्टिनेशन के तौर पर प्रोजेक्ट करने की तैयारी कर रही है.

सीएम योगी की मंशा के अनुरूप इसके लिए एक विस्तृत कार्ययोजना तैयार की गई है. सरकार के अफसरों ने बताया कि पर्यटन विभाग वर्ल्ड ट्रैवल मार्केट में आयोजित होने जा रहे टूरिज्म एक्सपो में 52 स्क्वेयर मीटर के एरिया में एक स्टॉल स्थापित करेगा. इस स्टॉल की स्थापना व कुशल संचालन के लिए बाकायदा एक एजेंसी को पर्यटन विभाग द्वारा नियुक्त किया जाएगा.

एजेंसी के लिए ई-टेंडर पोर्टल के जरिए ई-बिडिंग प्रक्रिया शुरू कर दी गई है. 17 अक्टूबर से शुरू हुई इस प्रक्रिया के अंतर्गत 26 अक्टूबर तक इच्छुक एजेंसियां अप्लाई कर सकती हैं जिसके बाद चयनित एजेंसी को प्रोग्राम को सुचारू ढंग से संचालित करने का कार्यभार सौंपा जाएगा.

अधिकारियों ने बताया कि लंदन में आयोजित हो रहे टूरिज्म एक्सपो में उत्तर प्रदेश की समृद्ध आध्यात्मिक और ऐतिहासिक विरासत की झलक पूरी दुनिया देख सके, इसके लिए सीएम योगी की मंशा के अनुरूप पर्यटन विभाग इन्हीं दो पैरामीटर्स पर सबसे ज्यादा फोकस कर रहा है.

इस आयोजन में उत्तर प्रदेश में स्थापित होने वाले स्टॉल की थीमलाइन भी इसी से प्रेरित होगी. इतना ही नहीं, उत्तर प्रदेश के पर्यटन विभाग द्वारा इस स्टॉल में उत्तर प्रदेश की सभी धरोहरों की प्रॉपर शोकेसिंग और उत्तर प्रदेश के प्रसिद्ध टूरिस्ट डेस्टिनेशंस से जुड़े ब्रोशर्स व बुकलेट्स को एक्सपो में आने वाले एग्जिबिटर्स के सामने रखा जाएगा.

इसी स्टॉल में उत्तर प्रदेश की भौगोलिक, आध्यात्मिक, ऐतिहासिक धरोहरों की छवि के साथ ही प्रदेश की बदलती तस्वीर और विशेषकर औद्योगिक, आर्थिक, लॉ एंड ऑर्डर, गुड गवर्नेंस, स्टैंडर्ड ऑफ लिविंग, इंफ्रास्ट्रक्चरल ग्रोथ व ईज ऑफ डूइंग बिजनेस को लेकर उत्तर प्रदेश में योगी सरकार के दौरान हुए सकारात्मक बदलावों को भी शोकेस किया जाएगा.

टूरिज्म एक्सपो में स्टॉल इंस्टॉलेशन के लिए ई-टेंडरिंग प्रक्रिया में प्रतिभाग करने के लिए पर्यटन विभाग ने एजेंसियों से आवेदन मांगे हैं. इस ई-टेंडर के लिए टेंडर फीस 5 हजार रुपए व 18 प्रतिशत जीएसटी निर्धारित की गई है. वहीं, अर्नेस्ट मनी डिपॉजिट (ईएमडी) की रकम 2 लाख रुपए निर्धारित की गई है.

सारी टेंडरिंग प्रक्रिया को पर्यटन विभाग के आधीन नियमों व उत्तर प्रदेश शासन की रूल बुक के अनुसार किया जाएगा. इस ई-टेंडरिंग के जरिए स्टॉल की स्थापना व संचालन का कार्य प्राप्त करने वाली एजेंसी को लंदन के वर्ल्ड ट्रैवल मार्केट में निर्धारित 52 स्क्वेयर मीटकर के एरिया में स्टॉल लगाएगी.

इसके अलावा, इस स्टॉल के डिजाइन, फैब्रिकेशन, सेटअप, इंस्टॉलेशन व डिसमैंटलिंग के कार्य भी इसी एजेंसी द्वारा किए जाएंगे. वहीं, स्टॉल में वीवीआईपी लाउंज, कॉफी वेंडिंग मशीन, एलईडी डिस्प्ले स्क्रीन, ग्लास शोकेस, मीटिंग टेबल, लाइट बीम, पालर सॉकेट, एलईडी लाइट, नीडल पंच कार्पेट, डस्टबिन्स, चेयर्स सिलेक्शन व 45 स्क्वेयर मीटर के सिटिंग एरिया अरेंजमेंट जैसे कार्यों को पूर्ण करना होगा.

विकेटी/

Check Also

दिल्ली में जामिया कैंपस में हुई झड़प में 3 घायल

नई दिल्ली, 2 मार्च . जामिया मिलिया इस्लामिया (जेएमआई) परिसर में दो समूहों के बीच …