Sunday , 18 April 2021

लालकिला और कुतुबमीनार में फिर शुरू हुआ रात्रि दर्शन

नई दिल्ली (New Delhi) . शहर के सबसे लोकप्रिय ऐतिहासिक स्थलों में अब फिर से रात्रि दर्शन शुरू हो गया है. लालकिला, कुतुबमीनार, हुमायूं का मकबरा, सफदरजंग का मकबरा आदि में पर्यटक अब शाम के समय रोशनी का आनंद ले सकते हैं. भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण एएसआइ ने रोशनी की व्यवस्था करने के बाद रात्रि दर्शन की सुविधा को 2019 की शुरुआत के दिनों में शुरू कर दिया गया था.

केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय के आदेश के अनुसार सूर्यास्त से रात नौ बजे तक पर्यटन की व्यवस्था की गई है. इस समय तक पर्यटक स्मारकों के अंदर भ्रमण कर सकते हैं. स्मारक में रात्रि सेवा के लिए दिन के बराबर टिकट का मूल्य निर्धारित किया गया है. इस सेवा में संग्रहालयों को शामिल नहीं किया गया है. इसमें क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड या आनलाइन टिकट के लिए 35 रुपये हैं और कैश में 50 रुपये का टिकट निर्धारित है. लालकिला में पर्यटक मीना बाजार में भी खरीदारी कर सकते हैं. किला के अंदर स्थित यह मार्केट भी नौ बजे तक खुल रही है. किला के अंदर रात में पर्यटक दीवान-ए-आम तक ही जा सकते हैं. सुरक्षा की से अन्य क्षेत्रों को प्रतिबंधित रखा गया है.

इसी तरह कुतुबमीनार और हुमायूं का मकबरा भी रात्रि दर्शन के लिए शाम 6 बजे से रात 9 बजे तक खुलता है. कोरोना का संक्रमण बढ़ने के बाद गत 22 मार्च से स्मारक बंद कर दिए गए थे. संक्रमण कम होने पर गत 8 जुलाई को जब केंद्र सरकार (Central Government)ने स्मारकों को खोलने की अनुमति दी तो कुछ शर्तें भी लगा दी थीं. इसमें प्रमुख स्मारकों में पर्यटकों की संख्या पर कै¨पग लगा दी गई थी. इसके चलते प्रमुख स्मारकों में भी पर्यटकों की निर्धारित संख्या शाम तक पूरी हो जा रही थी. कुछ दिन पहले एएसआइ द्वारा कै¨पग हटाए जाने के बाद सुनहरी रोशनी में नहाए स्मारकों को देखने का रास्ता साफ हो गया है. अब लोग शाम के समय पहुंचने भी लगे हैं, लेकिन अभी संख्या कम है. केंद्र सरकार (Central Government)ने शाम को लाइट एंड साउंड शो शुरू करने की इजाजत दे दी है. हालांकि, पुराने किले में अभी यह शुरू नहीं हो सका है. इसके शुरू होने में अभी कुछ समय लग सकता है. इसी तरह लालकिला में भी तैयार किया गया लाइट एंड साउंड शो शुरू नहीं हो सका है.

Please share this news