नारायण सरोवर-कोटेश्वर अब सिर्फ तीर्थ स्थल नहीं रहेगा: गिर के जंगलों की तरह पर्यटक अब यहां भी उठा सकेंगे जंगल सफारी का लुत्फ

444.23 वर्ग किमी क्षेत्रफल में फैला है नारायण सरोवर अभयारण्य. - Dainik Bhaskar

कच्छ के पश्चिमी छोर पर स्थित नारायण सरोवर-कोटेश्वर अब सिर्फ तीर्थ स्थल नहीं रहेगा. भविष्य में यहां आने वाले पर्यटक गिर के जंगलों की तरह जंगल सफारी का आनंद ले सकेंगे. राज्य स्तर पर इस प्रोजेक्ट का काम शुरू किया गया है. कच्छ जिले में 4 अभयारण्य और एकमात्र छारीढंढ संरक्षित क्षेत्र है. कच्छ में इस तरह की पहली सफारी शुरू होगी.