Thursday , 29 July 2021

कोरोना का गढ़ बन गया है मुंबई 6 दिन में 13 हजार मामले


मुंबई (Mumbai) . देश की आर्थिक राजधानी मुंबई (Mumbai) में कोरोना ने कोहराम मचा दिया है. शुक्रवार (Friday) को अकेले मुंबई (Mumbai) में ही कोरोना (Corona virus) के 3 हजार नए मामले सामने आए, जो कि इस महामारी (Epidemic) के शुरू होने के बाद सबसे ज्यादा है. बृहन्मुंबई (Mumbai) नगरपालिका के आंकड़ों के मुताबिक, 14 मार्च से लेकर 19 मार्च के बाची सिर्फ मुंबई (Mumbai) में ही कोरोना (Corona virus) के 13 हजार 912 नए मामले रिपोर्ट हुए हैं. इतना ही नहीं, मुंबई (Mumbai) में कोरोना का प्रकोप इस कदर बढ़ गया है कि 305 इमारतें सील हो चुकी हैं.

मुंबई (Mumbai) में फरवरी के मध्य से कोरोना (Corona virus) के नए मामलों में तेजी आना शुरू हो गया था. लेकिन इस हफ्ते सभी रिकॉर्ड टूट गए और मुंबई (Mumbai) में रोजाना आने वाले मामलों की संख्या 3 हजार तक पहुंच गई. यह आंकड़ा 7 अक्टूबर 2020 के बाद सबसे ज्यादा है जब एक दिन में कोरोना के 2 हजार 848 मामले सामने आए थे. यह रिकॉर्ड इस हफ्ते दो बार टूटा है. 18 मार्च को मुंबई (Mumbai) में कोविड-19 (Covid-19) के 2 हजार 877 केस आए और 19 मार्च को यहां 3 हजार 62 मामले दर्ज किए गए. बीते छह दिन मुंबई (Mumbai) के लिए सबसे भारी साबित हुए हैं. इस दौरान कंटेनमेंट जोन्स के साथ ही सील होने वाली इमारतों की संख्या भी बढ़ी है.

13 मार्च को यहां 31 कंटेनमेंट जोन थे और 220 बिल्डिंग सील्ड थीं लेकिन 18 मार्च तक कंटेनमेंट जोन जहां बढ़कर 34 हो गए तो वहीं 305 इमारतें सील हो चुकी हैं. एशिया की सबसे बड़ी झुग्गी माने जाने वाले मुंबई (Mumbai) के धारावी में 18 मार्च को कोरोना (Corona virus) के 30 नए मामले सामने आए जो कि इस साल सबसे ज्यादा है. इससे पहले 11 सितंबर 2020 को धारावी में 33 नए केस दर्ज हुए थे. महाराष्ट्र (Maharashtra) के कई अन्य जिलों की तरह ही मुंबई (Mumbai) में भी फिलहाल कोई नाइट कर्फ्यू या लॉकडाउन (Lockdown) लागू नहीं किया गया है. हालांकि, महाराष्ट्र (Maharashtra) सरकार ने शुक्रवार (Friday) को प्राइवेट ऑफिसों से कहा है कि वे 50 प्रतिशत क्षमता के साथ ही काम करें.

इसके अतिरिक्त ऑडिटोरियम, थिएटर, हॉल को भी 50 प्रतिशत क्षमता के साथ संचालित किए जाने का आदेश दिया गया है. मुंबई (Mumbai) नगरपालिका ने कोरोना टेस्ट की संख्या 25 हजार से बढ़ाकर दोगुना (guna) यानी 50 हजार करने का फैसला किया है. इतना ही नहीं, बीएमसी ने अब किसी मॉल में एंट्री के लिए कोरोना जांच रिपोर्ट को भी अनिवार्य बना दिया है.

Please share this news