Monday , 26 July 2021

मुख्तार अंसारी को दो हफ्तों के अंदर पंजाब से यूपी की जेल में भेजा जाए: सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली (New Delhi) . सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) ने शुक्रवार (Friday) को गैंगस्टर से नेता बने मुख्तार अंसारी को दो हफ्ते के अंदर पंजाब (Punjab) से उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की जेल में स्थानांतरित करने का आदेश दिया है. यह आदेश इसलिए दिया गया है ताकि अंसारी वहां पर मुकदमे का सामना कर सके. फिलहाल बाहुबली नेता पंजाब (Punjab) की रोपड़ जेल में बंद है. अब प्रयागराज (Prayagraj)की विशेष एमपी/एमएलए कोर्ट यह तय करेगी कि अंसारी को बांदा की जेल में रखा जाएगा या फिर किसी जेल में.

जस्टिस अशोक भूषण और आर सुभाष रेड्डी की पीठ ने निर्देश दिया कि अंसारी को दो हफ्ते के अंदर यूपी को सौंपा जाए. इससे पहले कोर्ट ने दो ट्रांसफर याचिकाओं को सीज कर लिया था, जिनमें से एक यूपी सरकार द्वारा अंसारी को पंजाब (Punjab) से यूपी ट्रांसफर करने को लेकर दायर की गई थी वहीं में दूसरी अंसारी ने अपने खिलाफ दर्ज केस को दिल्ली ट्रांसफर करने की मांग की थी. सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) ने अंसारी की याचिका को खारिज कर दिया. मऊ सदर सीट से विधायक अंसारी यूपी की एक जेल में बंद था और उसके केस का ट्रायल चल रहा था. इसी बीच पंजाब (Punjab) पुलिस (Police) ने जबरन वसूली और आपराधिक धमकी की शिकायत मिलने पर उसके खिलाफ प्रोडक्शन वारंट हासिल किया और उसे पंजाब (Punjab) ले गई. बता दें कि गैंगस्टर को लेकर यूपी और पंजाब (Punjab) सरकारों के बीच जंग छिड़ी हुई थी.

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) सरकार की तरफ से कोर्ट में पेश हुए सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने 3 मार्च को सुनवाई के दौरान बताया कि अंसारी ‘पंजाब (Punjab) की रोपड़ जेल से अपना कारोबार संचालित कर रहा है.’ मेहता ने कहा कि जिस एफआईआर (First Information Report) के कारण पंजाब (Punjab) पुलिस (Police) ने अंसारी की गिरफ्तारी की, उसमें साफतौर से मुख्तार अंसारी का नाम नहीं था और मजिस्ट्रेट के निर्देश के बिना बांदा जेल अधीक्षक द्वारा सौंपे जाने के बाद अंसारी को पंजाब (Punjab) ले जाया गया.

Please share this news