Friday , 14 May 2021

सांसद जनरल वीके सिंह ने मदद के लिए किया ट्वीट, अस्पताल में बेड नहीं मिल रहे

नई दिल्ली (New Delhi) . देश में कोरोना (Corona virus) से हालात दिन-प्रतिदिन खराब होते जा रहे हैं. हालात ऐसे हैं कि लोगों को अस्पताल में बेड नहीं मिल रहे हैं. इसी दौरान केंद्रीय मंत्री और गाजियाबाद (Ghaziabad) से सांसद (Member of parliament) जनरल वीके सिंह ने ट्विटर के जरिए कोरोना कोरोना संक्रमित एक शख्स की मदद के लिए गुहार लगाई. उनके इस ट्वीट से खबर फैल गई कि वे प्रशासन से अपने भाई के लिए बेड मुहैया करवाने का अनुरोध कर रहे हैं.

हालांकि बाद में उन्होंने इसपर स्पष्टीकरण दिया कि उन्होंने अपने भाई के लिए नहीं बल्कि किसी और के लिए यह ट्वीट किया था. जनरल वीके सिंह ने कहा, ‘मैंने यह ट्वीट के जरिए यह अनुरोध इसलिए किया था ताकि जिला प्रशासन पीड़ित शख्स तक पहुंच सके और उसे वो मेडिकल मदद दे सके जो उसका भाई चाहता है. वो मेरा भाई नहीं है, हमारा खून का रिश्ता नहीं है लेकिन हमारा मानवता का रिश्ता जरूर है. मुझे लगता है कि कुछ लोगों को यह रास नहीं आया. केंद्रीय मंत्री के इस ट्वीट से हुई गलतफहमी से जिला प्रशासन से लेकर आम आदमी को लगा कि केंद्रीय मंत्री के भाई को ही बेड नहीं मिल पा रहा है तो उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) खासकर गाजियाबाद (Ghaziabad) में बेड की बड़ी समस्या है.

सच्चाई जानने के लिए जब हमने गाजियाबाद (Ghaziabad) के जिलाधिकारी अजय शंकर पांडे से फोन पर बात की तो उन्होंने बताया कि केंद्रीय मंत्री को किसी ने ट्वीट किया था कि उनके उनके भाई को बेड नहीं मिल पा रहा है. मंत्री ने डीएम गाजियाबाद (Ghaziabad) को टैग करते हुए यह ट्वीट किया लेकिन इस तरह से यह ट्वीट हो गया कि जिसेस लगा केंद्रीय मंत्री के भाई को ही बेड नहीं मिल पा रहा है. जिलाधिकारी ने स्पष्ट किया है कि जिस मरीज को बेड की दिक्कत थी उसको भी एडमिट करा दिया गया है. दूसरी ओर केंद्रीय मंत्री ने ट्वीट करके इस मामले में सफाई दी है.

Please share this news