Saturday , 23 September 2023

मोदी सरकार सभी महत्वपूर्ण मोर्चों पर ‘पूरी तरह विफल’ रही : मल्लिकार्जुन खड़गे

हैदराबाद, 16 सितंबर . कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने शनिवार को कहा कि मोदी सरकार ‘सभी महत्वपूर्ण मोर्चों पर पूरी तरह विफल’ रही है. उन्‍होंने यह बात हैदराबाद में नवगठित कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की पहली बैठक के दौरान कही. कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस पार्टी प्रमुख विपक्षी दल के रूप में अपनी अहम भूमिका निभा रही है.

मुंबई में इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इन्क्लूसिव अलायंस (इंडिया) की तीसरी बैठक की सफलता के बाद सरकार केंद्रीय एजेंसियों के साथ विपक्षी दलों पर निशाना साध रही है.

सीडब्ल्यूसी में अपनी प्रारंभिक टिप्पणी में मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, ”कांग्रेस पिछले साढ़े नौ वर्षों से आम लोगों की चिंताओं और शिकायतों के निवारण में प्रतिबद्ध होकर केंद्र में प्रमुख विपक्षी दल के रूप में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है. देश आज कई आंतरिक चुनौतियों का सामना करते हुए ‘चौराहे’ पर है.”

भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, “मोदी सरकार महंगाई, बेरोजगारी, मणिपुर में बढ़ती हिंसा, बढ़ती असमानता और किसानों और मजदूरों की गिरती स्थिति को नियंत्रित करने में सभी महत्वपूर्ण मोर्चों पर पूरी तरह विफल रही है.”

खड़गे ने 3 मई को मणिपुर में भड़की हिंसा का जिक्र करते हुए कहा, ”पूरा देश मणिपुर में अभी भी हो रही दुखद घटनाओं को देख रहा है. मोदी सरकार ने मणिपुर की आग को हरियाणा के नूंह तक पहुंचने दिया.”

उन्‍होंने जोर देकर कहा कि ये घटनाएं आधुनिक, प्रगतिशील और धर्मनिरपेक्ष भारत की छवि को धूमिल करती हैं. आज हमारी अर्थव्यवस्था गंभीर खतरे में है. महंगाई और सभी जरूरी वस्तुओं की कीमतों में वृद्धि ने गरीबों और आम लोगों के जीवन पर प्रतिकूल प्रभाव डाला है.

युवा देश रिकॉर्ड बेरोजगारी की गंभीर चुनौती का सामना कर रहा है. असमानता की खाई लगातार गहरी होती जा रही है. मल्लिकार्जुन खड़गे ने आगे कहा कि मोदी सरकार आजादी के बाद से निर्मित देश के बेशकीमती सार्वजनिक उपक्रमों को कुछ पूंजीपति मित्रों को सौंप रही है.

हिमाचल प्रदेश जैसे राज्यों में बाढ़ और भूस्खलन के कारण प्राकृतिक आपदाओं तथा कई अन्य राज्यों में सूखे जैसी स्थिति का जिक्र करते हुए खड़गे ने कहा, “बाढ़ और सूखे जैसी प्राकृतिक आपदाओं से प्रभावित लोगों को राहत प्रदान करने की भी तत्काल जरूरत है.”

राष्ट्रीय सुरक्षा पर मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, “चीन के अतिक्रमण को लेकर सरकार की कथित लापरवाही देश की सुरक्षा के लिए गंभीर खतरा है. हालांकि, इन सभी बुनियादी मुद्दों को नजरअंदाज करते हुए, मोदी सरकार की यह प्रवृत्ति है कि वह बार-बार खोखले नारों से वास्तविक मुद्दों से ध्यान भटकाती रहती है.”

सरकार ‘आत्मनिर्भर भारत’, ‘5 ट्रिलियन इकोनॉमी’, ‘न्यू इंडिया 2022’, ‘अमृतकाल’ और अब, ‘तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था’ जैसे नारे लेकर आई है. ये महज खोखले शब्द हैं जिनका उद्देश्य सरकार की विफलताओं से देश का ध्यान भटकाना है.

कांग्रेस भारत के संविधान, देश के लोकतंत्र और हाशिए पर रहने वाले समुदायों के अधिकारों की रक्षा के लिए अपनी प्रतिबद्धता पर फिर से जोर देती है. भारत की मुख्य विपक्षी पार्टी होने के नाते, लोगों की आवाज़ बनना हमारी ज़िम्मेदारी है.

खड़गे ने कहा कि आज भारत की 27 पार्टियां महत्वपूर्ण बुनियादी मुद्दों पर एक साथ खड़ी हैं. तीन सफल बैठकों के बाद इंडिया गठबंधन जनविरोधी और लोकतंत्र विरोधी भाजपा सरकार से मुकाबला करने के लिए आगे बढ़ रहा है. इस घटनाक्रम से परेशान होकर भाजपा सरकार विपक्षी दलों के खिलाफ बदले की भावना से कार्रवाई कर रही है.

एफजेड/एसजीके

Check Also

‘एक राष्ट्र, एक चुनाव’ समिति की पहली आधिकारिक बैठक में कई बिंदुओं पर चर्चा

नई दिल्ली, 23 सितंबर . ‘एक राष्ट्र, एक चुनाव’ समिति की पहली आधिकारिक बैठक शनिवार …