Thursday , 29 July 2021

विधायक रामबाई हो सकती हैं गिरफ्तार

भोपाल (Bhopal) . कांग्रेस नेता देवेन्द्र चौरसिया हत्या (Murder) कांड में फरार चल रहे आरोपी गोविंद सिंह की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस (Police) ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है. बुधवार (Wednesday) को दमोह पुलिस (Police) एवं प्रशासन की टीम ने बसपा विधायक रामबाई के रसूख पर बिल्डोजर चलाया. साथ ही परिजनों पर भी गोविंद को सरेंडर कराने के लिए दबाव बनाया. ऐसी खबर है कि एसटीएफ को विधायक रामबाई के हत्या (Murder) रोपी पति का सुराग मिल गया है. यदि उसकी एक-दो दिन में गिरफ्तारी नहीं होती है तो फरारी में मदद करने के आरोप में पुलिस (Police) विधायक रामबाई को भी गिरफ्तार कर सकती है.

विधायक के पति हत्या (Murder) कांड के आरोप में दो साल से फरार चल रहे हैं. पिछले हफ्ते सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) ने राज्य सरकार (State government) और मप्र पुलिस (Police) को फटकार लगाई थी. इसके बाद हरकत में आई सरकार ने एसटीएफ को गोविंद को पकडऩे का जिम्मा सौंपा था. इसके बाद एसटीएफ के एडीजी विपिन माहेश्वरी दमोह पहुंचकर गिरफ्तारी के लिए दिशा-निर्देश दिया था. एडीजी के निर्देश पर ही एसटीएफ गोविंद के ठिकानों पर दबिश दे रही है. एसटीएफ को दमोह जिला पुलिस (Police) बल से अलग रखा गया है.

रामबाई पर चौतरफ शिकंजा

अभी तक पुलिस (Police) ने विधायक रामबाई के हत्या (Murder) रोपी पति की गिरफ्तारी को लेकर इतनी सख्ती नहीं दिखाई थी. सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) की फटकार के बाद पुलिस (Police) एवं प्रशासन ने रामबाई पर चौतरफा शिकंजा कस दिया है. साथ ही उसके रसूख को भी बिल्डोजर से कुचलना शुरू कर दिया है. अभी तक रामबाई कमलनाथ सरकार और फिर शिवराज सरकार में खुद विधायक होने की वजह से पति को गिरफ्तार से बचाती रहीं थीं. साथ ही क्षेत्र में अपना रसूख बढ़ाती रहीं. अब प्रशासन पति की गिरफ्तारी के साथ ही रामबाई के रसूख को भी खत्म करने पर तुली है.

प्रशासन के आगे पहले गिड़गिड़ाई फिर चेतावनी

तहसीलदार बबीता राठौर ने विधायक रामबाई को दिखाने के लिए नक्शा साथ लेकर पहुंचीं. विधायक रामबाई ने प्रशासन के आगे हाथ जोड़कर कहा अत्याचार मत करो अपराधियों को ढूंढ़ो. किसी को इतना परेशान मत करो, वरना आपको हमारी लाशें उठाने आना पड़े. उन्होंने कहा मामले को व्यक्तिगत मामला बनाकर एकतरफा कार्रवाई की जा रही है. तहसीलदार बबीता राठौर ने बताया नाले की जमीन पर बाउंड्रीवॉल होने पर प्रशासन ने बाउंड्रीवॉल तोड़ दी.

जज की सुरक्षा बढ़ाई

सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) के आदेश के बाद इस हत्या (Murder) कांड केस की सुनवाई कर रहे हटा के द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश (judge) की सुरक्षा बढ़ाई गई है. उनकी सुरक्षा में पीएसओ तैनात किए गए हैं.

Please share this news