Monday , 26 July 2021

प्रेमिका को भी नहीं बख्शा फर्जी राज्यमंत्री ने, 12 लाख ठगे

भोपाल (Bhopal) . सरकारी नौकरी ‎दिलवाने के नाम पर लाखों रुपए की ठगी करने वाले फर्जी राज्यमंत्री रोहित बैरागी ने अपनी प्रे‎मिका को भी नहीं बख्शा. उसे भी बारह लाख रुपए का चूना लगा दिया. युवती को जब खुद के ठगाए जाने का अहसास हुआ तो वह शिकायत करने थाने पहुंची और बहुरु‎पिए के कारनामे से पु‎लिस को अवगत कराया. यह मामला इंदौर (Indore) के भंवरकुआं थाना क्षेत्र का है.

जल संसाधन विभाग में युवक को निरीक्षक के पद पर नियुक्त कर लाखों की ठगी करने वाले फर्जी राज्यमंत्री की पोल उसकी ही प्रे‎मिका ने खोल दी है. आरोपित ने ज्योति को निज सहायक बना लिया था. उससे झूठ बोलकर विभिन्न कार्यक्रमों में मुख्य अतिथि बनता था. गौरतलब है कि रोहित ने खुद को राज्यमंत्री का दर्जा प्राप्त बताकर लोगों को जल संसाधन विभाग में नौकरी दिलाने के नाम पर लाखों रुपये ले लिए और फिर फर्जी नियुक्ति पत्र दे दिए थे.

भंवरकुआं थाना प्रभारी संतोष दूधी के मुताबिक, रोहित पुत्र मोहनदास बैरागी को पांच दिन के रिमांड पर लिया है. शनिवार (Saturday) को उससे फर्जी नियुक्ति पत्रों के संबंध में पूछताछ की तो कहा कि देवास निवासी हर्षल भटनागर लैपटाप पर टाइप करता था. देर रात पुलिस (Police) ने हर्षल को देवास से गिरफ्तार कर लिया. रविवार (Sunday) को थाने में दोनों का सामना करवाया तो मुकुर गया.

हर्षल ने कहा कि वह एनजीओ चलाता है. समूह लोन के लिए महिलाओं की मदद करता है. हर्षल ने रोहित को भी दो लाख रुपये का लोन दिलवाया है. इसके बाद रोहित ने बयान बदल लिए और कहा कि वह खुद ही भोपाल (Bhopal) के होटल (Hotel) में फर्जी नियुक्ति पत्र बनाता था. उसने इंटरनेट पर जल संसाधन विभाग के उप सचिव के हस्ताक्षर देख लिए थे. थाना प्रभारी के मुताबिक, आरोपित को भोपाल (Bhopal) ले जाया जाएगा, ता‎कि उसके द्वारा बताई गई कहानी की सच्चाई का पता लगाया जा सके.

Please share this news