Wednesday , 23 June 2021

राज्यमंत्री ने किया मुख्यमंत्री के स्वास्थ्य लाभ के लिए हवन

हरिद्वार (Haridwar) 25 मार्च. उत्तराखण्ड (Uttarakhand)सरकार के राज्यमंत्री रेखा आर्या ने प्रदेश के मुख्यमंत्री (Chief Minister) तीरथ सिंह रावत के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ के साथ साथ राज्य की उन्नति एवं जन जन के आरोग्य की कामना को लेकर विशेष आध्यात्मिक अनुष्ठान किए. इस दौरान उन्होने हवन यज्ञ में आहूतियॉ देकर मुख्यमंत्री (Chief Minister) के जल्दी स्वस्थ होने तथा कुम्भ मेला के सकुशल सम्पन्न होने का आर्शीवाद लिया. उन्होंने कहा कि कुम्भ मेला भव्य और दिव्य, स्वच्छता के साथ सकुशल सम्पन्न होगा.

कहा कि सरकार हर श्रद्वालुओं का स्वागत करेगी और स्नान का अवसर प्रदान कराने का प्रयास करेगी. बाद में उन्होंने जूना अखाड़े का निरीक्षण कर निर्माण कार्यो का निरीक्षण करते हुए तैयारियॉ को देखा. इस दौरान उन्होंने महंत हरि गिरि मॉग के बाद घोषणा की कि सभी अखाड़ों को सरकारी मूल्य पर खाद्य राशन उपलब्ध कराया जायेगा. गुरूवार को यहां जूना अखाड़ा के भैरवघाट पर आयोजित हवन यज्ञ में राज्यमंत्री अपने पति के साथ शामिल हुई. इस दौरान जूना अखाड़ा के अंतर्राष्ट्रीय संरक्षक एवं अखाड़ा परिषद के महामंत्री महंत हरिगिरि महाराज व सभापति महंत प्रेमगिरि महाराज भी मौजूद रहे.

ज्ञात रहे कि उत्तराखण्ड (Uttarakhand)के मुख्यमंत्री (Chief Minister) तीरथ सिंह रावत के कोरोना पॉजिटिव हो जाने के बाद रावत 14 दिनों के लिए आइसोलेट हो गये है. जबकि कुम्भ मेला अपने चरम की ओर अग्रसर है. ऐसे में मुख्यमंत्री (Chief Minister) के शीघ्र स्वस्थ्य होने की कामना के साथ संतों द्वारा विशेष आधयात्मिक अनुष्ठान किये जा रहे हैं. गुरूवार को श्रीपंच दशनाम जूना अखाड़ा के भैरव घाट पर विशेष आध्यात्मिक अनुष्ठान कार्यक्रम आयोजित किये गये. विशेष अनुष्ठान कार्यक्रम में राज्यमंत्री रेखा आर्या अपने पति गिरधारी लाल साहू के साथ शामिल हुई. इस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री (Chief Minister) तीरथ सिंह रावत के शीघ्र स्वस्थ होने तथा राज्य के जन-जन के आरोग्य रहने के साथ साथ कुम्भ मेला 2021 के सकुशल सम्पन्न होने की कामना के साथ हवन यज्ञ में आहूतियॉ डाली.

रेखा आर्या ने कहा कि मुख्यमंत्री (Chief Minister) लगातार कार्य कर रहे हैं, कोरोना पॉजिटिव होने के कारण आइसोलेट होने के वाबजूद वे वर्चुअल के माध्यम से कार्य कर रहे हैं. उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना के साथ मैने हवन, पूजन आदि किया है. कहा कि जूना अखाड़े के संरक्षक द्वारा सरकारी राशन की दुकान से राशन उपलब्धा कराये जाने की बात रखी गयी है, शीघ्र ही सरकार अखाड़ों को राशन उपलब्ध कराने का कार्य करेगी. उन्होंने कहा कि कुम्भ के दौरान कोविड गाईड का पालन कराया जायेगा. हाईकोट के आदेश के सम्बन्ध में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि सरकार कोई बीच का रास्ता निकालते हुए हर श्रद्धालु को गंगा स्नान करने का मौका प्रदान करने का प्रयास करेगी.

इस मौके पर अखाड़ा परिषद के महामंत्री महंत हरिगिरि महाराज ने बताया कि इस समय विशेष वैश्विक महामारी (Epidemic) का प्रकोप है, राष्ट्र के साथ साथ राज्य में भी इस महामारी (Epidemic) का प्रकोप जारी है. कुम्भ मेला शुरू हो चुका है. लेकिन उत्तराखण्ड (Uttarakhand)के नये मुख्यमंत्री (Chief Minister) तीरथ सिंह रावत भी इस महामारी (Epidemic) की चपेट में आये हैं, ऐसे में उनके मंत्रीमण्डल की महिला सहयोगी रेखा आर्य ने मुख्यमंत्री (Chief Minister) के साथ-साथ राज्य के जन-जन के स्वस्थ्य रहने की कामना के साथ यज्ञ में आहूतियॉ देकर पूजा अर्चना की है. मुख्यमंत्री (Chief Minister) शीघ्र स्वस्थ होकर राज्य का कुशल नेतृत्व प्रदान करते हुए कुम्भ मेला सम्पन्न करायें.

उन्होंने इस प्रयास के लिए राज्यमंत्री के कदमों की सराहना करते हुए कहा कि इस समय संतों के साथ-साथ हर नागरिक का दायित्व है कि वे इस वैश्विक महामारी (Epidemic) से बचाव का उपाय करने के साथ साथ दूसरों को भी नियमों का पालन करने के लिए प्रेरित करें. इस दौरान मौजूद राज्यमंत्री के पति समाजसेवी गिरधारी लाल साहू ने कहा कि राज्य के मुख्यमंत्री (Chief Minister) के जल्दी स्वस्थ होने की कामना के साथ विशेष पूजा, हवन किया गया. जूना अखाड़े के साथ उनका चार दशक पुराना सम्बन्ध रहा है, कभी अखाड़ा के प्रवक्ता रहे साहू ने कहा कि अखाड़े के संरक्षक महंत हरिगिरि हमेशा जनकल्याण के कार्यों को कराते रहे हैं.

कहा कि आध्यात्मिक अनुष्ठान में बड़ी शक्ति होती है. जूना अखाड़ा के इस घाट पर विशेष हवन यज्ञ किये जाने का फल निश्चित ही अच्छा होगा और मुख्यमंत्री (Chief Minister) शीघ्र स्वस्थ होकर राज्य का नेतृत्व प्रदान करेंगे. उन्होने यज्ञ आयोजन के लिए जूना अखाडे़ के साथ-साथ महंत हरिगिरि का विशेष आभार जताया. इस मौके पर जूना अखाड़ा के सभापति महंत प्रेमगिरि, महंत नारायण गिरि, महंत मोहन भारती, महंत पूरणगिरि, महंत शिवानंद सरस्वती, महंत निरंजन भारती, महंत सुरेशानंद सरस्वती, कारोबारी महंत जयदेवानंद, थानापति नीलकंठ गिरि, कोठारी लाल भारती सहित बड़ी संख्या में अखाड़ा के नागा सन्यासी सहित साधु संत मौजूद रहे. (फोटो-01)

Please share this news