बागोर की हवेली में ‘‘महात्मा: द ट्रू स्पिरिट’’ प्रारम्भ, एक माह चलेगी – Daily Kiran
Thursday , 9 December 2021

बागोर की हवेली में ‘‘महात्मा: द ट्रू स्पिरिट’’ प्रारम्भ, एक माह चलेगी

उदयपुर (Udaipur). पश्चिम क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र की ओर से स्वाधीनता की 75 वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में ‘‘आजादी का अमृत महोत्सव’’ के अंतर्गत तथा महात्मा गांधी की 152 वीं जयन्ती के अवसर पर बागोर की हवेली में कला प्रदर्शनी ‘‘महात्मा-द ट्रूु स्पिरिट’’ का शुभारम्भ शुक्रवार (Friday) को हुआ जिसमें राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के रंगीन आवक्षों के साथ-साथ उनके जीवन के विभिन्न प्रसंगों को श्रेष्ठ ढंग से दर्शाया गया है.

केन्द्र की कला दीर्घा ‘‘कला कुंभ’’ में आयोजित इस प्रदर्शनी का उद्घाटन स्मार्ट सिटी प्रोजेकट के मुख्य कार्यकारी निलाभ सक्सेना द्वारा दीप प्रज्ज्वलित करके किया गया. इस अवसर पर सक्सेना ने इस अवसर पर कला के माध्यम से शहर के सौन्दर्य को बढ़ाने की बात कही. केन्द्र निदेशक श्रीमती किरण सोनी गुप्ता ने बताया कि केन्द्र द्वारा विगत वर्ष तथा हाल ही में आयोजित कार्यशालाओं में देश के अनेक प्रतिष्ठित चित्रकारों ने महात्मा गांधी के आकर्षक पोटेªट्स तथा उनके जीवन के विभिन्न प्रसंगों का दर्शाया गया है. उन्होंने बताया कि प्रदर्शनी 29 कलाकारों के चित्र प्रदर्शित किये गये हैं.

श्रीमती गुप्ता ने इस अवसर पर बताया कि केन्द्र द्वारा शौर्य आर्ट कैम्प प्रदर्शनियों का आयोजन उदयपुर (Udaipur), दीव तथा गोवा में किया गया है. उन्होंने कलाओं को लोगों के बीच ले जाने की भी पैरवी की. इस अवसर पर उन्होंने कलाकार गोपाल स्वामी खेतांची के प्रति आभार व्यक्त किया जिन्होंने अपना उत्कृष्ट आर्ट वर्क केन्द्र को भेंट किया. इस अवसर पर केन्द्र निदेशक किरण सोनी गुप्ता ने निलाभ सक्सेना को शोर्य आर्ट पर केन्द्र द्वारा प्रकाशित पोर्ट फोलियो भेंट किया.

प्रदर्शनी में गोपाल स्वामी खेतांची, सुमन पाण्डेय, मानवेन्द्र सिंह, रवि कुमार योगी, श्रीकांत रंगा, पार्थ गुईं, डिम्पल चण्डात, मनोज वर्मा, दिग्विजय दत्तात्रय कुम्भार, मंदार यशवंत उजल, कन्हैया लाल पटेल, रामचन्द्र खरतमाल, मनहर कपाड़िया, लखन सिंह जाट, अमित चन्द्रकांत धाने, अमिताव मुखर्जी, नागजी प्रजापति, प्रवीण करमाकर, राजेन्द्र प्रसाद, मनीष मोदी, दिलीप दुधने, तसलीम जमाल, अनिल कुमार एम.वी., सुभाष शेगांवकर, अजित कुमार, हिंडोल ब्रह्मभट्ट,, शरद भारद्वाज तथा शर्मिला राठौड़ की कृतियाँ प्रदर्शित की गई हैं. इस अवसर पर केन्द्र के अतिरिक्त निदेश्क सुधांशु सिंह ने अभार प्रदर्शित किया है. कार्यक्रम का संयोजन दुर्गेश चांदवानी द्वारा किया गया. प्रदर्शनी आगामी 31 अक्टूबर तक खुली रहेगी.

Check Also

डॉ कमल सिंह राठौड़ को एजुकेशन आइकॉन अवार्ड

उदयपुर (Udaipur). बीएन फार्मेसी महाविद्यालय के अधिष्ठाता प्रोफेसर युवराज सिंह सारंगदेवोत ने बताया कि महाविद्यालय …