Thursday , 6 August 2020
महाराणा सज्जन सिंह कालीन (1874-1884) : मेवाड़ राज्य विकास एवं जनहितार्थ कार्य

महाराणा सज्जन सिंह कालीन (1874-1884) : मेवाड़ राज्य विकास एवं जनहितार्थ कार्य

उदयपुर (Udaipur). महाराणा सज्जन सिंह जी की 161वीं जयंती के उपलक्ष्य में आज कड़ी में तीसरे दिन महाराणा मेवाड़ चैरिटेबल फाउण्डेशन द्वारा संचालित महाराणा मेवाड़ अनुसंधान केन्द्र, उदयपुर (Udaipur) द्वारा मेवाड़ राज्य विकास एवं जनहितार्थ कार्यों पर तैयार किया गया है. पाठकों की जानकारी के लिए इसे इटर्नल मेवाड़ की पोस्ट पर भी दिया जा रहा है. आज महाराणा सज्जन सिंह जी के शासनकाल के दौरान मेवाड़ राज्य के विकास एवं जनहितार्थ कार्यों का संक्षिप्त इतिहास इस प्रकार हैः-

मेवाड़ राज्य विकास एवं जनहितार्थ कार्य:

महाराणा सज्जन सिंह जी ने अपने शासनकाल में जनहित एवं राज्य की उन्नति के लिए कुशलतापूर्वक कई सुधार किये गये. राज्य में मुख्य प्रमुख स्थानों पर सड़कों का निर्माण-मरम्मत, रोशनी, आदि के लिए कार्य आरम्भ करवाये. राज्य में सफाई के लिए अलग से विभाग बनाया गया. भारत में बम्बई (मुम्बई) के बाद दूसरी नगरपालिका उदयपुर (Udaipur) में स्थापित की गई थी. शहर को खूबसूरत (Surat) बनाने के लिए योजनागत तरीके से कई कार्य सम्पन्न करवाये तथा कानून के तहत अतिक्रमणों को साफ किया गया. आमजन की सुविधा के लिए आवारा जानवरों को पकड़ने का बंदोबस्त करवाया गया.

अच्छे स्वास्थ्य के लिए निर्मित सज्जन निवास बाग में बैठने की कुर्सियां, फव्वारें, नाना प्रकार के पेड़-पौधों आदि की व्यवस्था की गई. बच्चों के मनोरंजन एवं जानकारी के लिए बाग में पहले चिड़ियाघर का निर्माण किया गया. यही नहीं राज्य में खेलों को प्रोत्साहन देते हुए महाराणा ने राज्य में खेल मैदान बनवाये. पीने के स्वच्छ जल की योजना के तहत राज्य में महाराणा ने अलग से जलदाय विभाग की स्थापना करवा सार्वजनिक स्थानों पर पीने के पानी के नल लगवाए गए. झीलों, तालाबों, कुओं-बावड़ी की मरम्मत का काम आरम्भ किया गया.

कृषि उत्पादन बेहतर बनाने के लिए महाराणा ने उदयसागर और राजसमंद झीलों से नहरों का निर्माण करवाया. उदयपुर (Udaipur) से खेरवाड़ा, निम्बाहेड़ा, नाथद्वारा तक राज्यमार्ग का निर्माण करवाया. चित्तौड़-उदयपुर (Udaipur) रेलवे (Railway)लाइन परियोजना की योजना तैयार करवाई थी जिसे महाराणा फतह सिंह जी ने पूर्ण करवाया. यही नहीं महाराणा सज्जन सिंह ने आमजन की सुविधा और राज्य के विकास के लिए अनाथालय, मंदबुद्धियों हेतु आश्रय स्थल, गौशाला आदि का निर्माण करवा उन्हें सुचारू किया.

ब्रिटिश सरकार (Government) ने महाराणा सज्जन सिंह जी को राज्य विकास एवं जनहितार्थ किये गये कार्यों के लिए जनरल कमांडर द स्टार ऑफ इंडिया का खिताब प्रदान किया गया. खिताब लेकर स्वयं भारत के वायसराय लॉर्ड रिपन चित्तौड़गढ़ उपस्थित हुए.