Friday , 16 April 2021

मदन महल स्टेशन की घटना

जबलपुर, 05 जनवरी . जाको राखे सांईया…. की बात सोमवार (Monday) को मदनमहल स्टेशन में चरितार्थ हुई. मदनमहल स्टेशन पर इटारसी छोर पर चलती ट्रेन से एक युवक ने चलती ट्रेन से छलांग लगाई लेकिन जिस ट्रैक में छलांग मारी वहाँ ट्रेन निकलने से पहले ही बचा लिया गया, उसे गंभीर हालत में मेडीकल में भर्ती कराया गया. 19 वर्षीय युवक के हाथ-पैर जरूर प्रâैक्चर हो गए लेकिन उसकी जिंदगी बचना किसी चमत्कार से कम नहीं था. पटरी पर घायल हालत में पड़े युवक को समय रहते जीआरपी ने हटा दिया. उसी पटरी पर 10 मिनट बाद एक मालगाड़ी निकली. युवक को मदनमहल में ही उतरना था लेकिन उसकी आंख लग गई. जब नींद खुली तो ट्रेन स्टेशन छोड़ चुकी थी. हड़बड़ी में उसने सामान नीचे फेंका और पीछे खुद भी कूद गया था.

काशी एक्सप्रेस में सवार था युवक………….

प्रत्यक्षदर्शियों एवं जीआरपी से मिली जानकारी के अनुसार काशी एक्सप्रेस 05018 में बिजौरी बड़वारा कटनी निवासी शिवकुमार कुशवाहा मदनमहल के लिए सवार हुआ था. मदनमहल ट्रेन रविवार (Sunday) रात लगभग 12 बजे पहुंची. उसे नींद लग गई थी. ट्रेन ने स्टेशन छोड़ा तो हड़बड़ी में वह उठा. यात्रियों (Passengers) से स्टेशन के बारे में पूछा. तब तक ट्रेन आगे बढ़ चुकी थी. उसने अपना सामान ट्रेन से नीचे फेंका और फिर खुद ही कूद गया. प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक वह ट्रेन के विपरीत दिशा में कूदा था. इसके चलते खिंच कर ट्रेन की चपेट में आ गया. गनीमत रही की पहियों के नीचे नहीं आया. चलती ट्रेन से कूदने पर उसके हाथ-पैर प्रâैक्चर हो गए.

पटरी पर ही पड़ा रहा, 10 मिनट बाद वहीं से गुजरी मालगाड़ी…………

शिवकुमार घायल हालत में पटरी पर ही पड़ा हुआ था. उसे गिरते हुए देख स्टेशन पर मौजूद कुछ यात्रियों (Passengers) ने तुरंत जीआरपी को सूचना दी. मदनमहल जीआरपी चौकी प्रभारी राजेश राज ने बताया कि वह तुरंत मौके पर पहुंचे. 108
को सूचना देकर जैसे ही शिवकुमार को वहां से अलग किया. उसी ट्रैक से मालगाड़ी धड़धड़ाते हुए निकली. यदि उसे ट्रैक से हटाने में थोड़ा भी विलंब हुआ होता तो वह कई टुकड़ों में बंट गया होता. उसे मेडीकल में भर्ती कराया गया है. जहां उसकी हालत चिकित्सकों ने खतरे से बाहर बताई है.

Please share this news