Tuesday , 18 February 2020
लॉकहीड मार्टिन भारत को तेजस युद्धक विमान की क्षमता बढ़ाने में मदद करेगी

लॉकहीड मार्टिन भारत को तेजस युद्धक विमान की क्षमता बढ़ाने में मदद करेगी

नई दिल्ली. अमेरिका की दिग्गज कंपनी लॉकहीड मार्टिन भारत को तेजस युद्धक विमान की क्षमता बढ़ाने तथा अगली पीढ़ी का उन्नत बहुद्देश्यीय युद्धक विमान (एएमसीए) विकसित करने में मदद करेगी. लॉकहीड मार्टिन ने यह पेशकश 24-25 फरवरी को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की पहली भारत यात्रा से पहले की है. ट्रंप की यात्रा के दौरान दोनों रणनीतिक साझेदारों के बीच रक्षा और सैन्य सहयोग के और मजबूत होने की उम्मीद है.

लॉकहीड मार्टिन ने कहा कि कंपनी तेजस युद्धक जेट के साथ ही अगली पीढ़ी के महत्वाकांक्षी विमान के विकास में भारत की सहायता करने के लिए तैयार है.
स्वदेश में विकसित तेजस हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड और एयरोनॉटकिल डेवलपमेंट एजेंसी की परियोजना रही है और दोनों कंपनियां अब तेजस के उन्नत संस्करण पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं ताकि इसे विश्व स्तरीय विमान बनाया जा सके. भारत अपनी वायु क्षमता में वृद्धि के लिए पांचवीं पीढ़ी के मध्यम वजन वाले लड़ाकू विमान जेट को विकसित करने के लिए महत्वाकांक्षी पांच अरब अमेरिकी डॉलर की परियोजना पर भी काम कर रहा है.

भारतीय वायुसेना के 18 अरब डॉलर के सौदे को देखते हुए, लॉकहीड मार्टिन ने विशेष रूप से भारत को अपने नए एफ -21 लड़ाकू विमान की पेशकश की है और यह वादा भी किया है कि अगर कंपनी को अनुबंध मिल जाए तो वह भारत में भी एक विनिर्माण केंद्र स्थापित कर सकती है. कंपनी ने कहा कि अगर उसे 114 जेट के लिए अनुबंध मिलता है तो वह जेट किसी अन्य देश को नहीं बेचेगी.