Saturday , 19 June 2021

नाबालिग के अपहरण, दुष्कर्म के आरोपी को उम्रकैद

जबलपुर, 23 मार्च . एक नाबालिग किशोरी का अपहरण कर दुष्कर्म के आरोपी को पॉस्कों के विशेष न्यायालय ने आजीवन कारावास के साथ 25 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया. मझगवां क्षेत्र के खागामऊ की रहने वाली नाबालिग किशोरी के मामले में मेडिकल रिपोर्ट और डीएनए अहम साक्ष्य बना न्यायालय ने पाया कि नाबालिग को बालिग बताकर झूठ बोलते हुए आरोपी ने शादी भी कर ली थी.

अभियोजन के अनुसार नाबालिग को एक युवक ने अगवा किया. उसकी अधिक उम्र बता कर कोर्ट में शादी की और आरोपी नाबालिग से रेप करता रहा. अभियोजन की कहानी के अनुसार खागामऊ मझगवां निवासी नाबालिग गांव के हैंडपंप पर पानी भरने जाती थी. उसी दौरान आरोपी राजा भैया किशोरी से बातचीत करने लगा. आरोपी किशोरी को 22 फरवरी 2017 को जबरन भगा ले गया. आरोपी किशोरी को पहले कटनी फिर कर्वी ले गया. वहां उसने नाबालिग की उम्र अधिक बताते हुए कोर्ट मैरिज कर ली. इसके बाद वह लगातार नाबालिग के साथ रेप करता रहा.

मेडीकल जांच में रेप की हुई पुष्टि…………

मझगवां पुलिस (Police) ने आरोपी को 4 अप्रैल 2017 को धरदबोचा. किशोरी को दस्तयाब करने के बाद कोर्ट में उसका बयान दर्ज कराया गया. मेडिकल सहित डीएनए जांच कराई गई. इसमें आरोपी द्वारा नाबालिग से रेप की पुष्टि हुई. मामला का ट्रायल विशेष कोर्ट सतीशचंद्र राय की अदालत में चला.

साक्ष्यों के आधार पर विशेष कोर्ट ने सुनाई सजा……….

विशेष लोक अभियोजक कृष्णा प्रजापति ने नाबालिग का पक्ष, मेडिकल रिपोर्ट सहित अन्य साक्ष्यों के आधार पर रखा. विशेष कोर्ट ने आरोपी राजा भैया को आजीवन कारावास की सजा सुनाई. वहीं 25 हजार रुपए के अर्थदंड से भी दंडित किया है.

Please share this news