Saturday , 11 July 2020
डीजल/प्रेट्रोल और मंहगाई के सवाल पर वामदलो का जोरदार प्रदर्शन

डीजल/प्रेट्रोल और मंहगाई के सवाल पर वामदलो का जोरदार प्रदर्शन

सोनभद्र ! आज दिनांक 29 जून 2020 को वामपंथी दलों द्वारा पेट्रोल डीजल वृद्धि के सवाल पर वामदलो द्वारा कलेक्ट्रेट पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए  जोरदार नारेबाजी के साथ धरना प्रदर्शन किया गया और मौके पर जिलाधिकारी के माध्यम से  माननीय राष्ट्रपति वह माननीय राज्यपाल महोदय नामित  मांग पत्र को उपजिलाधिकारी को सौंपा . जहाँ प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के जिला सचिव कामरेड आर के शर्मा ने मीडिया को बताया कि आज पेट्रोल डीजल के दाम प्रति लीटर 80 के पार हो गए हैं उसको तुरंत सरकार वापस ले विश्व में अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में अभूतपूर्व गिरावट आई है इस गिरावट का आम जनता को लाभ मिल पाता इससे पहले ही केंद्र सरकार ने पेट्रोल डीजल पर उत्पाद उत्पाद कर और बढ़ा दिया और राज्य सरकारों ने बैठ बढ़ा दिया रही सही कसर प्रतिदिन डीजल पेट्रोल की कीमतें बढ़ाकर तेल कंपनियों ने पूरी कर दी रसोई गैस की भी काफी हिम्मत काफी बढ़ गई, विश्व में सर्वाधिक लगभग 69 परसेंटेज टैक्स यहां लिया जा रहा है . पेट्रोलियम पदार्थों की बढ़ी कीमतों की मार से किसानों मजदूरों व्यापारियों ट्रांसपोर्टरों और आम जनता को राहत दिलाने के लिए वामपंथी दल द्वारा लगातार आवाज उठाई जा रही हैं वामपंथी दलों द्वारा देशभर में मूल वृद्धि के खिलाफ धरना प्रदर्शन किया किया जा रहा है और उपरोक्त उपयुक्त सवालों पर आज हमारे जनपद सहित पूरे प्रदेश में विरोध प्रदर्शन आयोजित किए गए हैं. ज्ञापन के माध्यम से नौ सुत्रीय   मांगों पर तत्काल सकारात्तम कार्यवाही की माँग की गयी है.जिसमें प्रमुखता के साथ पेट्रोल और डीजल की कीमतों पर हाल के सप्ताहों में बढ़ाए गए उत्पादों उत्पादों पर उत्पाद कार और बैट को तत्काल वापस लिया जाए . पेट्रोल डीजल एवं रसोई गैस को पूर्व की मूल्य नियंत्रण प्रणाली द्वारा लागू किया जाए. महंगाई भ्रष्टाचार पर तुरंत रोक लगाई जाए.आयकर के दायरे से बाहर समस्त परिवारों को हर माह रुपया 7500 उनके खाते में दिया जाए.उत्तर प्रदेश में चरमरा चुकी कानून व्यवस्था की हालत को नियंत्रित किया जाऐ . दलितों महिलाओं और अल्पसंख्यकों का उत्पीड़न रोका जाए.कोविड-19 अस्पतालों एवं एकांत केंद्रों की दयनीय व्यवस्थाओं के सुधार लाया जाए और अधिकारिक जांच किया जाए लोगों को मानवी संजीदगी से मुफ्त इलाज कराया जाए .जनता के हितों में आवाज उठाने वाली विपक्षी दलों और सामाजिक कार्यकर्ताओं का राजनीतिक उत्पीड़न बंद किया जाए.अन्य गतिविधियों की तरह विपक्ष की राजनैतिक गतिविधियों को भी  अनलाक किया जाय . इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने लगातार घंटो सरकार की नीतियों के खिलाफ नारेबाजी करते रहे . इसकार्यक्रम  का नेतृत्व भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी  के जिला सचिव कामरेड आर के शर्मा जी, सीपीएम के जिला सचिव कामरेड नंद लाल आर्या जी व माले के जिला सचिव कामरेड शंकर कोल जी ने किया . इस दौरान एडवोकेट अशोक कुमार कनौजिया, अमर नाथ सूर्य, खेत मजदूर यूनियन के जिलाध्यक्ष कामरेड राम लाल , नौजवान सभा के जिलाध्यक्ष एडवोकेट अनिल कुमार मौर्या, कमला प्रसाद , विजय पाल रावत  व किसान सभा के नेता पुरशोत्तम आदि प्रमुखरुप से उपस्थित थे .