Tuesday , 7 July 2020
[सैमसंग मेंबर्स से सीखें] फोटोग्राफी कम्पोजिशन और फ्रेमिंग

[सैमसंग मेंबर्स से सीखें] फोटोग्राफी कम्पोजिशन और फ्रेमिंग

समीक्षाएं, टिप्स और तरकीबें, और साथ ही समय-समय पर सैमसंग के ही किसी विशेषज्ञ से मिलने वाली खास जानकारियां – सैमसंग मेंबर्स ऐप टेक्नोलॉजी को उसकी अधिकतम उपयोगिता तक इस्तेमाल करने के शानदार तरीकों से हमेशा भरपूर रहता है. यह समुदाय टेक्नोलॉजी प्रेमियों को एक-दूसरे से जोड़ता है ताकि वे आपस में जानकारियां साझा कर सकें. उनके द्वारा हमारी टेक्नोलॉजी के रचनात्मक इस्तेमाल से हमें नए आविष्कार करते रहने और टेक्नोलॉजी से संबंधित समस्याओं का बेहतर समाधान प्रस्तुत करने की प्रेरणा मिलती है.

 

नचिकेत सावे, मुंबई (Mumbai) से हैं और हमारे आज के एक्सपर्ट हैं

 

देश भर के सैमसंग मेंबर्स #withGalaxy के साथ कुछ अत्यंत मनोरम तस्वीरें साझा करते रहे हैं. सैमसंग न्यूजरूम भारत ने मुंबई (Mumbai) से सैमसंग मेंबर और फोटोग्राफी के शौकीन नचिकेत सावे से बातचीत की. इसी के आधार पर हम आपके लिए यहां प्रस्तुत कर रहे हैं सही कंपोजिशन और फ्रेमिंग के साथ स्मार्टफोन से बेजोड़ फोटोग्राफी के गुर.

 

फ्रेम का इस्तेमाल

 

फ्रेम फोटोग्राफ की कहानी कहने में सहायता करते हैं. फ्रेमिंग के जरिये फोकल प्वाइंट जोड़ने से पता चलता है कि व्यूअर को ठीक-ठीक कहां देखना है. मुंबई (Mumbai) के 27-वर्षीय सावे की सलाह है, “आप सैमसंग स्मार्टफोन की कैमरा सेटिंग के अंदर ‘गियर’ आइकॉन पर क्लिक कर 3×3 ग्रिड का इस्तेमाल कर सकते हैं.” इमेजिनरी फ्रेम मौजूद होने के कारण यह तकनीक प्राकृतिक दृश्यों के मामले में खास तौर पर बेहतर काम करती है.

 

फ्रेम को भरना

 

यदि आपको लगता है कि जिस दृश्य की तस्वीर लेनी है, उसके पीछे या इर्द-गिर्द काफी हलचल है, जिससे उस दृश्य का प्रभाव कमजोर पड़ सकता है, तो ऐसे में आपको फोकस के मुख्य बिंदु के चारों तरफ फ्रेम को क्रॉप कर घेरे को दृश्य से जितना संभव हो, चिपका देना चाहिए. इससे पीछे और अगल-बगल के दृश्य कट जाएंगे और फ्रेम में सारा ध्यान मुख्य विषय पर ही जाएगा. यह तरीका खास तौर पर छायाचित्रों की तस्वीर खींचने में असरदार साबित होता है, जब आप किसी बहुत अंतरंग और गूढ़ विषय को पकड़ने की कोशिश कर रहे हों.

 

समरूपता और आकृति

 

अपने प्रिय तकनीकों में से एक के बारे में बात करते हुए नचिकेत ने बताया, “बार-बार दुहराई जा रही किसी आकृति को फ्रेम में भर देने से शॉट ज्यादा असरदार हो जाता है क्योंकि ऐसा करने से जिस वस्तु की आप तस्वीर खींच रहे होते हैं, उसके आकार या उसकी संख्या में आभासी उभार दिखने लगता है.” ऐसे शॉट जहां समरूपता हो, जैसे किसी सड़क के दोनों ओर लैंप पोस्ट की कतार या पेड़ों की लंबी कतार या महराबों की एक शृंखला, उनमें आंखों को एक बिंदु पर निर्देशित करने के लिए इस तकनीक का इस्तेमाल किया जा सकता है.

 

परतों के इस्तेमाल से गहराई पैदा करना

 

सामने, मध्य और पृष्ठभूमि के विवरण तस्वीरों को गहराई देने में और साथ ही तस्वीरों पर दृष्टि आकर्षित करने में मदद करते हैं. फ्रेम में आने वाले ऐसे तमाम दृश्य जो एक-दूसरे के लिए पूरक का काम करते हैं, उदाहरण के लिए रंगों के मेल या संगत के लिहाज से, फोटोग्राफ को बेहतर बनाते हैं.

 

 

लकीरों का इस्तेमाल

 

फोटोग्राफी को रचनात्मक बनाए रखने के लिए टिप्स साझा करते हुए उन्होंने कहा, “हमारी आंखें अनजाने ही चित्रों में मौजूद लकीरों के अनुसार देखती हैं इसलिए यदि आप यह सोच सकें कि आपकी तस्वीरों में आप कैसे, कहां और क्यों लकीरें रखते हैं, तो आप दर्शकों के अपनी तस्वीरों को देखने के तरीके को बदल सकेंगे.”

 

 

 

[मुंबई (Mumbai) से नचिकेत सावे,एक साल तक सैमसंग सदस्य हैं. वह अपने गैलेक्सी स्मार्टफोन से प्यार करते हैं और फोटोग्राफी में प्रयोग करना पसंद करते हैं. अपने गैलेक्सी स्मार्टफोन पर सैमसंग मेंबर्स ऐप पर रजिस्टर करें और समुदाय में शामिल हों]