भाजपा समर्थकों को किसानों पर हमला कर नेता बनाने का खट्टर का गुरु मंत्र कभी भी सफल नहीं होगा – कांग्रेस – Daily Kiran
Sunday , 28 November 2021

भाजपा समर्थकों को किसानों पर हमला कर नेता बनाने का खट्टर का गुरु मंत्र कभी भी सफल नहीं होगा – कांग्रेस


नई दिल्ली (New Delhi) . कांग्रेस ने हरियाणा (Haryana) के मुख्यमंत्री (Chief Minister) मनोहर लाल खट्टर पर सार्वजनिक रूप से किसानों के खिलाफ हिंसक रणनीति की वकालत करने का आरोप लगाया गया है. सोशल मीडिया (Media) पर चल रहे वीडियो को उद्धृत करते हुए कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा “भाजपा समर्थकों को लाठी-डंडों से विरोध प्रदर्शन करने वाले किसानों पर हमला करने, जेल जाने और फिर उन्हें नेता बनाने के लिए उकसाने का खट्टर का गुरु मंत्र कभी भी सफल नहीं होगा.

संविधान की शपथ लेकर खुले कार्यक्रम में अराजकता फैलाने का यह आह्वान देशद्रोह है. ऐसा प्रतीत होता है कि मोदी-नड्डा जी (आपके साथ) सहमत हैं.” वहीं मुख्यमंत्री (Chief Minister) कार्यालय ने कहा कि बयान को काट-छाँट करने के बाद फैलाया गया है. पूरा वीडियो देखें तो आप समझ जाएंगे कि उन्होंने क्या कहा. भाजपा कार्यकर्ताओं की आंतरिक बैठक के दौरान मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने कार्यकर्ताओं के अनुशासन में रहने की बात कही और किसी भी गलत काम का कड़ा विरोध किया.

जो वीडियो वायरल हुआ उसमें खट्टर कहते हैं, “कुछ नए कृषक समूह हैं जो हाल ही में सामने आए हैं. हमें उनका समर्थन करना है. उत्तर और पश्चिम हरियाणा (Haryana) में, किसानों के सशस्त्र समूहों को खड़ा करना चाहिए … 500-700-1000 लोगों के स्वयंसेवी समूहों को उठाएं और लाठी उठाएं और फिर ‘जैसे के लिए तैसा’ नीति का पालन करें … परिणामों के बारे में चिंता न करें और अगर आप इसके लिए सलाखों के पीछे जाते हैं तो जमानत पाने की चिंता न करें. आप एक बड़े नेता के रूप में सामने आएंगे.” मुख्यमंत्री (Chief Minister) एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे जो उनके सरकारी आवास पर अनाज खरीद शुरू करने के लिए धन्यवाद देने के लिए आयोजित था.

Check Also

पोर्नोग्राफी केस में राज कुंद्रा को झटका

नई दिल्ली (New Delhi) . अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी के पति और बिजनेसमैन राज कुंद्रा की …

. . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . . .