Sunday , 18 April 2021

गौहत्या विरोधी अध्यादेश को कर्नाटक सरकार ने पास किया


बेंगलुरू (Bengaluru) . कर्नाटक (Karnataka) के पशुपालन मंत्री प्रभु चौहान ने कहा कि गौहत्या (Murder) विरोधी अध्यादेश को सोमवार (Monday) को मंत्रिमंडल ने पास कर दिया है. अब इस मंजूरी के लिए राज्यपाल के पास भेजा जाएगा. गौरतलब है कि कर्नाटक (Karnataka) विधानसभा में हंगामे के बीच गौ हत्या (Murder) रोकथाम विधेयक पारित हुआ. विधेयक पर विरोध जताकर कांग्रेस विधायकों ने विधानसभा का बहिष्कार किया था.

इस विधेयक को आधिकारिक रूप से कर्नाटक (Karnataka) प्रिवेंशन ऑफ स्लॉटर एंड प्रिजर्वेशन ऑफ कैटल बिल-2020 नाम दिया गया. इस विधेयक में कर्नाटक (Karnataka) में गौ हत्या (Murder) पर पूरी तरह से रोक लगाने के लिए प्रावधान किए गए. गौ-हत्या (Murder) , उसकी तस्करी, गौवंश पर अत्याचार, गौवंश पर अवैध यात्रा पर कड़ी सजा का प्रावधान किया गया है. कानून के अनुसार 12 साल की उम्र तक की भैंस और अन्य जानवरों को भी मारे जाने से बचाएगा.

विधेयक में गौ-हत्या (Murder) के मामलों में त्वरित न्याय के लिए फास्ट ट्रैक कोर्ट के गठन का भी प्रावधान है. जानवरों को रखने के लिए गौशाला और जानवरों के शेड बनाएं जाएंगे. पुलिस (Police) को जानवरों की स्थिति देखने का अतिरिक्त अधिकार दिया गया है. इतना ही नहीं उन लोगों को भी पुलि की सुरक्षा मिलेगी जो गोवंश और अन्य जानवरों की सुरक्षा के लिए प्रयासरत होंगे.

Please share this news